बच्ची को वापस ले गई मां तो महिला ने की अपहरण की रिपोर्ट, दो घंटे तक हलकान रही पुलिस

सूचना मिलते ही पुलिस में हड़कंप मच गया. आनन फानन में जिले की सीमाएं सील कर नाकाबंदी शुरू करा दी गई. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद जब मामले का पर्दाफाश हुआ तो पुलिस ने राहत की सांस ली है.

बच्चा चोरी की अफवाह के बाद नाकाबंदी करती पुलिस

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक मासूम बच्ची के अपहरण का झूठा मामला सामने आया है. यहां बिना लिखा पढ़ी के गोद दी गई बच्ची को उसकी मां ने वापस ले लिया तो दंपति ने बच्ची के अपहरण की रिपोर्ट लिखा दी. इस सूचना पर पुलिस में हड़कंप मच गया. आनन फानन में जिले की सीमाएं सील कर नाकाबंदी शुरू करा दी गई. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद जब मामले का पर्दाफाश हुआ तो पुलिस ने राहत की सांस ली है. पुलिस के मुताबिक यह मामला कानपुर के नौबस्ता बाईपास का है. पुलिस इस मामले में शिकायत करने वाली दंपति और बच्ची की असली मां के बयान दर्ज कर रही है.

पुलिस ने बताया कि हरजिंदर नगर में रहने वाली पिंकी पाल के पति सुशील ने पुलिस कंट्रोल रूम में अपनी बच्ची के अपहरण की सूचना दी थी. दरअसल उसे शादी के बाद कोई औलाद नहीं हुआ. संयोग से उसके पड़ोस में किराए का घर लेकर रहने वाली कोमल ठाकुर को दो बेटियां पहले से थीं और बीते जून माह में तीसरी बेटी भी पैदा हो गई. इसके बाद पिंकी ने कोमल के साथ बातचीत कर उसकी तीसरी बेटी को ले लिया और अपने ससुराल शिवराजपुर में सूचना दे दी कि उसे बेटी हुई है. इसी दौरान कोमल हरजिंदर नगर छोड़ कर बिठूर में रहने लगी.

बच्ची वापस देने को तैयार नहीं थी पिंकी

करीब डेढ़ महीने बाद कोमल का मन बदल गया और उसने पिंकी से अपनी बेटी वापस करने को कहा. पिंकी ने बेटी वापस करने से मना किया तो कोमल ने बेटी को देखने के बहाने उसे बहाने से नौबस्ता बाईपास पर बुलाया और अपनी बेटी लेकर घर आ गई. इधर, कोमल के जाने के बाद पिंकी ने अपने पति सुशील को बता दिया कि उसकी बेटी का किसी ने अपहरण कर लिया है. इसके बाद सुशील ने पुलिस को सूचित कर दिया. इससे हड़कंप मच गया.

कोमल ने कहा गोद नहीं दिया था बेटी

बच्ची की असली मां कोमल ने बताया कि उसने अपनी बेटी को गोद नहीं दिया था. पिंकी ने झूठ बोलकर उसकी बेटी ले लिया था, जिसे उसने वापस ले लिया है. उसने बताया कि पिंकी के साथ बच्ची गोद लेने संबंधी कोई औपचारिकता नहीं हुई थी. जबकि पिंकी और उसके पति पुलिस को दिए बयान में उसे अपनी बेटी बता रहे थे. फिलहाल पुलिस दोनों पक्षों के बयान दर्ज कर मामले की जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें



दो घंटे तक मचा रहा हड़कंप

उत्तर प्रदेश में पहले से बच्चा चोर गिरोह के सक्रिय होने की अफवाह है. ऐसे में शनिवार को जैसे ही सूचना मिली कि किसी मासूम बच्ची का अपहरण हुआ है, पुलिस में हड़कंप मच गया. आनन फानन में पुलिस ने जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया. जिले के सभी थानों को नाकाबंदी करने के निर्देश दे दिए गए. डीसीपी साउथ प्रमोद कुमार ने बताया कि इसी दौरान पुलिस टीम ने जब पिंकी के घर पहुंच कर पड़ताल की तो सच्चाई सामने आई. इसके बाद पुलिस ने कोमल से संपर्क कर उससे बातचीत की है और बयान दर्ज कराने के लिए थाने में बुलाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.