पहले हिंदुवादी नेता को दाऊद ने धमकाया, अब दिल्ली के विधायक को 10 लाख न देने पर मार डालने की धमकी

Sanjeev Jha

देश की राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी के एक विधायक (एमएलए) की इन दिनों सासें अटकी हुई हैं. उन्हें जान से मार डालने की धमकी मिली है. धमकी देने वाले ने दो टूक कहा है, “नीरज भैय्या ने कहा है कि 10 लाख की प्रोटक्शन मनी तुरंत दे दो… वर्ना शर्तिया ठोक देंगे.” इस संदेश के मिलने के बाद से विधायक डर के साए में जीने को मजबूर हैं. फिलहाल शिकायत के आधार पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जांच शुरू कर दी है. अभी तक जांच में कोई ठोस बात निकल कर सामने नहीं आई है. जिन विधायक का यह मामला है उनका नाम संजीव झा है.

संजीव झा द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक, “धमकी देने वाला खुद को कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवानिया का भाई बता रहा है. प्रोटक्शन मनी की डिमांड करने वाले ने अपना नाम विक्की कोबरा बताया है. पुलिस इन सभी तथ्यों की पड़ताल कर रही है.” यहां उल्लेखनीय है कि गैंग्स्टर नीरज बवानिया लंबे समय से दिल्ली की जेल में बंद है. नीरज बवानिया और लॉरेंस गैंग्स्टर गैंग दो विरोधी गुट हैं. पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड से हतप्रभ नीरज बवानिया ने सिद्धू मूसेवाला के हत्यारों और षडयंत्रकारियों से सात दिन के भीतर बदला लेने का खुला चैंलेज दिया था.

अभी तक हालांकि नीरज बवानिया अपने उस चैलेंज के मामले में लॉरेंस बिश्नोई गैंग के किसी गुंडे को मारने की बात छोडिए, किसी गैंग्स्टर की ओर नजर उठा कर भी नहीं देख सका है. आम आदमी पार्टी (AAP) विधायक संजीव झा द्वारा मीडिया को दी गई खबरों और पुलिस को मिली शिकायत के मुताबिक, “मुझे लगातार ऑडियो मैसेज आ रहे थे. वे सभी मैसेज धमकी भरे थे. इसके अलावा करीब 35 कॉल और मैसेज कुल मिलाकर अब तक आ चुके हैं. यह सभी मटीरियल पीड़ित विधायक ने दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया है. ताकि पुलिस आवाज को मैच करके आगे की तफ्तीश शुरू कर धमकी देने वालों तक पहुंचने की कोशिश कर सके.”

जेल के अंदर रहकर भी नीरज बवानिया का गैंग है एक्टिव

उधर शिकायत में विधायक ने अपनी जान को खतरा होने के साथ-साथ अपने परिवार की भी जान-माल की रक्षा की गुहार दिल्ली पुलिस से लगाई है. दरअसल राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में नीरज बवानिया एक ऐसे गैंग्स्टर का नाम है जो, अपने नाम में सरनेम की जगह गांव का नाम लिखता है. जेल में बंद रहने न रहने का उसकी सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ता है. जेल के अंदर रहकर भी नीरज बवानिया गैंग, जेल से बाहर उगाही का काला कारोबार बदस्तूर जारी रखता है. उसके खिलाफ दिल्ली के बाहर भी कई राज्यों में संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं. नीरज बवानिया के लिए देश के तमाम छोटे-मोटे गैंग भी काम करते रहते हैं.

यही वजह है कि जल्दी से उसके गैंग के गुर्गे कभी पुलिस की पकड़ में आसानी से नहीं आ पाते हैं. यहां यह भी बताना जरूरी है कि बुधवार को ही दिल्ली के मंदिर मार्ग साइबर थाने में हिंदूवादी नेता चक्रपाणि महाराज ने भी अपनी जान को खतरा होने की शिकायत दर्ज कराई है. जिसमें उन्होंने कहा है कि बुधवार शाम करीब पौने छह बजे उन्हें उनके वॉट्सएप पर विदेश से कॉल करके धमकाया गया. धमकाने वाले ने खुद को दाऊद इब्राहिम का भाई बताया. धमकाने वाला कह रहा था कि चक्रपाणि महाराज तुम्हें जल्द ही एके-47 से कत्ल कर डाला जाएगा. उसके बाद तुम्हारी गर्दन धड़ से अलग कर दी जाएगी. इस मामले की जांच भी दिल्ली पुलिस करने में जुटी हुई है.

Similar Posts