पर्यावरण के लिए 1179 दिनों में किया 30121 किलोमीटर का सफर… विश्व की सबसे लंबी साइकिल यात्रा करने वाले ग्रीनमैन की कहानी

Greenman Narpat

पर्यावरण के लिए विश्व की सबसे लम्बी साइकिल यात्रा पर निकले ग्रीनमैन नरपतसिंह राजपुरोहित (greenman narpat singh) की यात्रा 3 साल 2 महीने और 23 दिन लगातार चलने के बाद जयपुर (jaipur) में खत्म हो गई. नरपतसिंह ने करीब 30 हजार 120 किलोमीटर लंबा सफर साइकिल (cycle trip) से कवर किया. गांव लंगेरा ने 27 जनवरी 2019 को विश्व कि सबसे लम्बी साइकिल यात्रा की शुरूआत करने वाले नरपतसिंह 20 राज्यों 6 केंद्र शासित राज्यों से गुजरते हुए 20 अप्रैल 2022 को अमर जवान ज्योति जयपुर पहुंचे जहां उनकी यात्रा का समापन हुआ. बता दें कि 37 साल के नरपत सिंह ने साइकिल से यात्रा कर एक खास तरह का ग्रीन एनवायरनमेंट (environmental protection) के लिए साइकिलिंग का विश्व रिकार्ड बनाने का मिशन पूरा किया है. नरपत सिंह के इस यात्रा को खत्म करने के बाद अब राजस्थान सहित देशभर में उनकी चर्चा हो रही है. वहीं कई नेता और तमाम प्रदेशवासी उन्हें इस आयाम पर पहुंचने के लिए बधाई दे रहे हैं.

नरपत सिंह के मुताबिक उनकी इस अनूठी यात्रा का मकसद था कि पर्यायवरण के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए. वह इस यात्रा के जरिए लोगों को पर्यावरण की अहमियत बताना चाहते थे. नरपत सिंह ने अपनी यात्रा के दौरान करीब 94100 पौधे भी लगाए.

20 राज्यों से गुजारी साइकिल यात्रा

ग्रीनमैन के नाम से मशहूर नरपतसिंह ने बताया कि उन्होंने 26 राज्यों से होते हुए तीस हजार किलोमीटर की यात्रा पूरी की है. बुधवार को जब वह जयपुर पहुंचे तो सैकड़ो लोग उनके स्वागत के लिए तैयार खड़े थे. ग्रीनमैन ने बताया कि उन्होंने इस तरह यह विश्व की सबसे लम्बी साइकिल यात्रा पूरी की है जिसे 3 साल दो महीने और 24 दिन में खत्म किया गया. बता दें कि राजपुरोहित का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी है.

वहीं इससे पहले वह पर्यायवरण संरक्षण के लिए कई यात्राएं कर चुके हैं जिनमें मई 2017 में 500 किमी, सितंबर 2017 में 200 किमी और दिसंबर 2017 से जनवरी 2018 तक 4 हजार किलोमीटर की साइकिल यात्राएं शामिल हैं.

यात्रा के दौरान लगाए करीब 1 लाख पौधे

ग्रीनमैन ने जानकारी दी कि वह यात्रा के जरिए लोगों को पर्यायवरण संरक्षण के प्रति जागरूक करना चाहते थे. उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान रास्ते में मिलने वालों को उन्होंने पौधा भेंट किया और जहां वह रूके वहां पौधे लगाए. इस तरह नरपत सिंह ने अपनी यात्रा के दौरान कुल 94100 पौधे लगाए. बता दें कि ग्रीनमैन के पैर में 10 फीसदी विकलांगता है इसके बावजूद उन्होंने 26 राज्यों से होकर यह साइकिल यात्रा पूरी की.

Similar Posts