पत्नी पर शक और पेट्रोल डालकर शिवसेना नेता ने जला डाला, थाने में बोले- गायब है, खोज लाइए

पुलिस ने आरोपी शिवसेना नेता और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. एसपी मोहित कुमार गर्ग ने बताया कि आरोपी सुकांत को आगे की पूछताछ के लिए 19 सितंबर तक के लिए पुलिस कस्टडी में रखा गया है.

(सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र के रत्नागिरि में एक झकझोर देने वाली खबर है. यहां एक शिवसेना के नेता ने अपनी पत्नी को जिंदा जला दिया और चुपचाप उसकी अस्थियों को समुद्र में फेंकने के बाद खुद थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखा दी. लेकिन पुलिस ने जैसे ही मामले की जांच शुरू की, पूरा मामला खुल गया. पता चला कि पति पत्नी दोनों एक दूसरे पर अवैध संबंधों का आरोप लगाते थे. इसी को लेकर हुई कहासुनी के बाद आरोपी शिवसेना नेता ने इस वारदात को अंजाम दिया है.

इस खुलासे के बाद पुलिस ने आरोपी शिवसेना नेता और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. एसपी मोहित कुमार गर्ग ने बताया कि आरोपी सुकांत को आगे की पूछताछ के लिए 19 सितंबर तक के लिए पुलिस कस्टडी में रखा गया है. उन्होंने बताया कि आरोपी शिवसेना नेता सुकान्त सावंत रत्नागिरि का रहने वाला है. उसकी पत्नी स्वप्नाली सावंत रत्नागिरि में पंचायत समिति की अध्यक्ष रह चुकी थी. रत्नागिरि की राजनीति में दोनों सक्रिय थे और दोनों की ही अपने क्षेत्र में अच्छी पहचान थी.

अवैध संबंध के शक में की वारदात

पुलिस की जांच में सामने आया है कि पति पत्नी दोनों एक दूसरे पर अवैध संबंध रखने का आरोप लगाते थे. इस बात को लेकर आए दिन इनके बीच झगड़े भी होते थे. दो सितंबर को भी इनके बीच कहासुनी हुई. बताया जा रहा है कि इसमें स्वप्नाली ने इस झगड़े में सुकांत को करारा जवाब दिया था. इसके बाद आवेश में आकर सुकांत ने अपने दो साथियों रुपेश सावंत और प्रमोद गवानंग के साथ मिलकर उसी दिन पत्नी के ऊपर पेट्रोल छिड़क दिया और आग लगा दी. इससे स्वप्नाली बुरी तरह झुलस गई और मौके पर ही उसकी मौत हो गई. इसके बाद सुकांत ने उसकी अस्थियों को ले जाकर समुद्र में बहा दिया था.

अलग अलग जगह पर फेंकी अस्थियां

पुलिस ने बताया कि आरोपी सुकांत ने पूछताछ में बताया है कि उसने सबूत मिटाने के लिए खूब प्रयास किए हैं. घर में जहां उसने पत्नी को जलाया, उस जगह की साफ सफाई कराने के बाद उसने अस्थियों को भी समुद्र में अलग अलग स्थानों पर ले जाकर फेंक दिया. उसकी निशानदेही पर पुलिस ने बताए गए स्थान पर अस्थियों की तलाश भी की, लेकिन अभी तक कोई सबूत हाथ नहीं लगे हैं.

ये भी पढ़ें



खुद लिखाई गुमशुदगी

पुलिस ने बताया कि अस्थियों को समुद्र में फेंकने के बाद सुकांत को लगा कि मामला कभी भी सामने आ सकता है. चूंकि उसकी पत्नी भी एक पहचान वाली नेता थी और उससे मिलने के लिए लोग आते जाते रहते थे. ऐसे में उसने षड़यंत्र के तहत खुद थाने में जाकर लिखित तहरीर दे दिया कि दो सितंबर के बाद से ही उसकी पत्नी कहीं गायब हो गई है. पुलिस ने भी पहले उसकी बात को मान लिया, लेकिन मामले की जांच शुरू करने के बाद सारा मामला सामने आ गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.