न बीजेपी न ही शिंदे…. कांग्रेस ने किसे ठहराया महाराष्ट्र के सियासी बवाल का जिम्मेदार, शिवसेना को नाना पटोले का ऑफर- जिसके साथ जाना चाहें जाएं

Nana Patole

महाराष्ट्र (Maharashtra) का सियासी बवाल यूं तो शिवसेना के घर का मसला बताया जा रहा है, लेकिन इसका असर देश की तीन प्रमुख पार्टियों पर पड़ रहा है. शिवसेना के अलावा कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी इस बवाल से उठने वाली लपटों की चपेट में हैं. ऐसी राजनीतिक स्थिति पैदा करने के लिए कोई बीजेपी को इसका जिम्मेदार ठहरा रहा है तो कोई देवेंद्र फडणवीस को इस षड्यंत्र का चाणक्य बता रहा है. हालांकि महा विकास आघाडी सरकार में सहयोगी पार्टी कांग्रेस किसी और को ही इन हालातों का जिम्मेदार मान रही है.

कांग्रेस पार्टी का मानना है कि इन हालातों के लिए सिर्फ प्रवर्तन निदेशालय (ED) ही जिम्मेदार है. महाराष्ट्र में कांग्रेस पार्टी के प्रमुख नाना पटोले ने कहा है, “हम बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने के लिए शिवसेना के साथ हैं. ये खेल (एकनाथ शिंदे प्रकरण) ED के कारण हो रहा है. कांग्रेस फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है. हम MVA हैं और रहेंगे.” ED को खेल का जिम्मेदार बताने के साथ कांग्रेस ने अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी पर ही निशाना साधा है.

‘शिवसेना जिसके साथ जाना चाहे जाए, हमें दिक्कत नहीं’

सूबे के सियासी बवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए पटोले ने एक बात और साफ की है कि वो अभी भी शिवसेना के साथ ही हैं. साथ ही उन्होंने शिवसेना को अपने इस घरेलू विवाद को सुलझाने के लिए जो जरूरी लगे वो कदम उठाने की सलाह भी दी है. पटोले का कहना है, “अगर वो (शिवसेना) किसी अन्य के साथ गठबंधन करना चाहते हैं तो भी हमें कोई तकलीफ नहीं है.”

MVA से निकलने के लिए राउत ने बागियों को दिया ऑफर

इससे पहले शिवसेना सांसद संजय राउत ने नाराज हुए एकनाथ शिंदे गुट को ऑफर देते हुए कहा कि बागी विधायक अगर महाविकास आघाडी से निकलने की मांग करते हैं तो हम राजी हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें 24 घंटों के अंदर मुंबई आकर उद्धव ठाकरे से मिलना होगा. ऐसी ही अपील उद्धव ठाकरे ने बुधवार शाम बागी विधायकों से की थी.

Similar Posts