देशभर में कोरोना के बढ़ते मामले कहीं चौथी लहर तो नहीं? ICMR के टॉप डॉक्टर ने दिया जवाब, बचाव के लिए फेस मास्क को बताया जरूरी

Coronavirus

देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस (India Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, जिसके चलते मास्क (Face Mask Rules) से जुड़े प्रतिबंध एक बार फिर लागू किए जा रहे हैं. हालांकि इसके संक्रमण की चौथी लहर होने की संभावना नहीं है. ये बात इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) में महामारी विज्ञान और संक्रामक रोगों के हेड वैज्ञानिक ने बुधवार को कही है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, डॉक्टर आर गंगाखेड़कर ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि ये चौथी लहर (Fourth Wave of Covid 19) है.’ हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि फेस मास्क का इस्तेमाल जारी रखना जरूरी है.

भारत में आज जारी आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 2000 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. जबकि राजधानी दिल्ली में 600 से अधिक मामले दर्ज हुए. जिसके चलते आपदा प्रबंधन एजेंसी ने एक बैठक की और दोबारा से मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया. दूसरे राज्यों में भी नियमों को दोबारा लागू किया जा रहा है, जैसे सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क पहनना. दुनिया के तमाम देशों में XE वेरिएंट के फैसले की वजह से भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने की चिंता बढ़ गई है.

डरने की कोई जरूरत नहीं- डॉक्टर

डॉक्टर गंगाखेड़कर ने एएनआई से कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि ये चौथी लहर है. दुनिया अब भी BA.2 वेरिएंट की गवाह बन रही है, जिससे दुनियाभर के लोग प्रभावित हो रहे हैं. हममें से कुछ ने मास्क के अनिवार्य इस्तेमाल को भी गलत समझा है, लेकिन अब ये नियम फिर से आ गया है, तो ऐसे में डरने की कोई जरूरत नहीं है. अभी तक कोई नया वेरिएंट सामने नहीं आया है. जो बुजुर्ग हैं, जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली है और जो अभी तक संक्रमित हो चुके हैं, उन्हें मास्क का इस्तेमाल करने की जरूरत है.’

2000 से अधिक मामले हुए दर्ज

भारत में बुधवार को कोरोना वायरस के 2,067 मामले सामने आए हैं, यहां दैनिक मामलों में 66 फीसगी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. इसी समय के दौरान 44 मौत दर्ज की गई हैं. ऐसा इस हफ्ते में दूसरी बार हो रहा है, जब कोविड-19 के मामलों ने 2000 का आंकड़ा पार किया है. दिल्ली में भी मामले बढ़े हैं और फेस मास्क पहनान अनिवार्य कर दिया गया है. इसे ना पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना भरना पड़ सकता है. दिल्ली में मंगलवार को संक्रमण के 632 मामले सामने आए हैं. हालांकि कोई नई मौत दर्ज नहीं हुई है. उत्तर प्रदेश और हरियाणा में भी मास्क पहनने से जुड़े यही आदेश जारी हुए हैं. इसके अलावा आईआईटी-कानपुर के अध्यन में अनुमान जताया गया है कि इस साल जुलाई में चौथी लहर आ सकती है.

Similar Posts