डायन समझकर महिला को रस्सी से बांधा, फिर गले में लोहे की चेन डाल, बाल खींचकर की पूछताछ

मध्य प्रदेश के खंडवा में एक महिला को डायन समझकर उसे रस्सियों से बांधकर, उसके गले में चेन डालकर उससे तांत्रिक क्रियाओं के बारे में पूछताछ की गई.

महिला को चैन से बांधकर की पूछताछ.

डायन प्रथा का अंत हो चुका है, लेकिन आज भी ग्रामीण अंचलों में महिलाओं को डायन समझकर प्रताड़ित किया जाता है. यह शंक किया जाता है कि वह काले जादू के नाम पर ग्रामीणों को बीमार कर रही हैं. आधुनिक समाज काला जादू, टोना, टोटका एवं तंत्र मंत्र को नहीं मानता है लेकिन आज भी ग्रामीण अंचलों में महिलाएं इसका शिकार बन रही हैं. ताजा मामला मध्य प्रदेश के खंडवा से सामने आया है. महिला से परेशान ग्रामीणों ने एक झाड़-फूंक वाले को बुलाया और फिर महिला को बांधकर उसके तांत्रिक क्रियाओं के बारे में पूछताछ की. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

मामला खंडवा जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम सिंगोट के तिलक नगर का है. काला जादू के नाम पर हड़कंप मच गया. महिला से परेशान ग्रामीणों ने एक झाड़-फूंक वाले को बुलाया और फिर महिला को बांधकर उसके तांत्रिक क्रियाओं के बारे में पूछताछ की. ग्रामीण मीठा राम, जगदीश व कैलाश ने 45 वर्षीय महिला दूना बाई पर आरोप लगाया कि वह करीब डेढ़ साल से अपने काले जादू से तिलक नगर के वासियों को मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रही है. जिसने तांत्रिक क्रियाओं से ग्रामीण रामचरण को बीमार कर दिया. काला जादू के नाम पर दूना बाई द्वारा की जा रही हरकत से उसका पति और बेटे बहु भी परेशान हैं. जो तांत्रिक द्वारा की गई पूछताछ के दौरान मूक बनकर तमाशा देखते रहे.

महिला होती रही प्रताड़ित, लोग देखते रहे तमाशा

ग्रामीणों ने बड़वानी जिले के उपला गांव से तांत्रिक काश्या महाराज को गांव में बुलाया. झाड़-फूंक करने से पहले महिला के दोनों हाथों को रस्सी से बांधकर, महिला के गले में लोहे की चेन डालकर, उसके बाल पकड़कर तांत्रिक क्रियाओं के बारे में घंटों पूछताछ की. इस दृश्य को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. स्वयं को काले जादू का शिकार मानने वाले रामचरण से जब इस संबंध बात की गई कि ऐसा क्या हुआ कि आप अपाहिज हो गए. तब उसने बताया कि मैं मजदूरी कर घर लौटा तब अचानक रात में मेरे एक साइड में शरीर एवं हाथ, पसलियों, में तक काला पड़ गया, और अचानक उसमें सड़न लग गई, मैंने डॉक्टर को दिखाया लाखों रुपए का इलाज करवाया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ, तब मैंने झाड़-फूंक वाले के पास गया, तब उन्होंने बताया कि तुम पर काला जादू किया हुआ है, और उसने दूना बाई का नाम भी बताया.

तांत्रिक ने कालाजादू के बारे में की पूछताछ

उसके बाद बड़वानी जिले के पलसूद थाने के ग्राम उपला के काश्या महाराज जी को तिलक नगर बुलाकर पूछताछ की. वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि तांत्रिक द्वारा दुना बाई से कालाजादू के बारे में पूछताछ की जा रही है. पूछताछ में महिला कबूल कर रही है की उसके द्वारा ही तिलक नगर के लोगों को शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा था. उसने यह भी बताया कि होलिका दहन स्थान पर उसके द्वारा शमशान का कोयला एवं लोहे की रॉड और बाल गाड़े हुए हैं. लोगों को शारीरिक रूप से परेशानी हो इसलिए मैंने शमशान में जले हुए (मुर्दे) मृत शरीर के जबड़े को भी लाकर वहां गाडा है.

तांत्रिक का दावा- शैतान को बाहर निकाला

बड़वानी से आए तांत्रिक काश्या महाराज का दावा है की उन्होंने महिला के ऊपर सवार हुए शैतान को बाहर निकाल दिया है. जिससे अब लोगों को शारीरिक व मानसिक परेशानी नहीं होगी. लेकिन सवाल अभी बाकी है की सभी समाज इस घटना को किस रूप में स्वीकारता है. महिला के साथ हुए दुर्व्यवहार को लेकर कोई शिकायत करता भी सामने नहीं आया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.