ट्रेन में पत्नी के शव के साथ कर लिया 500 km तक का सफर, फिर भी मौत से अनजान रहा पति

बिहार का रहने वाला एक दंपित घर जाने के लिए निकला, लेकिन रास्ते में दोनों का साथ छूट गया. ट्रेन में पत्नी की हार्ट अटैक से मौत हो गई. 500 किलोमीटर तक पति शव के साथ सफर करता रहा. वह जान ही नहीं पाया कि पत्नी की मौत हो गई है.

रेलवे स्टेशन पर बैठा मृतक महिला का पति.

Image Credit source: tv9 bharatvarsh

लुधियाना से बिहार जा रही एक्सप्रेस ट्रेन में एक पति अपनी पत्नी के शव के साथ लगभग 500 किलोमीटर तक सफर करता रहा. पास की सीट पर बैठे यात्रियों ने जब रेलवे पुलिस को ट्रेन में शव होने की सूचना दी तो आनन-फानन में उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर जीआरपी पुलिस ने पत्नी के शव के साथ सफर कर रहे पति को रेलवे स्टेशन पर उतार लिया. साथ ही शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

दरअसल, लुधियाना से बिहार जा रही मोरध्वज एक्सप्रेस ट्रेन से नवीन कुमार नाम का युवक अपनी पत्नी के साथ औरंगाबाद (बिहार) जा रहा था. रास्ते में ट्रेन पर ही उसकी पत्नी उर्मिला की हार्ट अटैक से मौत हो गई, जिसकी भनक उसे कई घंटों तक नहीं लगी. वह यह समझा कि उसकी पत्नी गहरी नींद में सो रही है. कई घंटे गुजर जाने के बाद भी जब उसकी पत्नी नहीं उठी तो पास में बैठे यात्रियों ने उससे उसकी पत्नी को देखने के लिए कहा, जिसके बाद उसने देखा कि उसकी पत्नी की अचानक मौत हो चुकी है.

500 किमी तक शव के साथ किया सफर

बदहवास पति अपनी पत्नी के शव के साथ लगभग 500 किलोमीटर तक यात्रा करता रहा. इसी दौरान पास में बैठे यात्रियों द्वारा इसकी सूचना जीआरपी पुलिस को दी गई. जिस पर शाहजहांपुर जनपद में रेलवे एवं जीआरपी पुलिस द्वारा स्टेशन पर पत्नी के शव के साथ यात्रा कर रहे पति को उतार कर उसकी पत्नी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.

लुधियाना में मजदूरी करता था पति

पूछताछ में उसने बताया कि वह लुधियाना में रहकर मजदूरी का काम करता है. उसकी पत्नी ने घर जाने की इच्छा जाहिर की थी, जिस पर वह अपनी पत्नी के साथ अपने घर औरंगाबाद बिहार जा रहा था. इसी दौरान ट्रेन में ही रात्रि लगभग 3:00 बजे उसकी पत्नी की हार्ट अटैक से मौत हो गई. उसने बताया कि ट्रेन में सर्दी लगने के कारण उसने अपनी पत्नी को चादर ओढ़ा रखी थी और स्वयं भी ओढ़ कर सो गया.

ये भी पढ़ें



पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा

उसे पता ही नहीं लगा कि उसकी पत्नी की कब मौत हो गई. इस दौरान लगभग 500 किलोमीटर की यात्रा भी वह तय कर चुका था. इसके बाद उसने पत्नी को उठाना चाहा तो उसकी पत्नी नहीं उठी. इसी दौरान पास में यात्रा कर रहे लोगों ने इसकी सूचना जीआरपी को दे दी. शाहजहांपुर रेलवे एवं जीआरपी पुलिस द्वारा रेलवे स्टेशन पर उसे पत्नी के शव के साथ उतार लिया गया और शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.