टीम से बाहर होने पर टूट गई थी जेमिमा, मसीहा बनकर आए पंत-रोहित, ऐसे की मदद

Jemimah Rodrigues

रोहित शर्मा और ऋषभ पंत के उत्साहवर्धक शब्दों से जेमिमा रोड्रिग्ज (Jemimah Rodrigues) का उस समय हौसला बढ़ा जब वह भारतीय महिला क्रिकेट टीम से बाहर होने के बाद मुश्किल दौर से गुजर रही थी और टीम में वापसी पर काम कर रही थी. इस क्रिकेटर का मानना है कि वह खुशकिस्मत रहीं कि उन्हें रोहित और पंत (Rishabh Pant) के साथ बात करने का मौका मिला. न्यूजीलैंड में हुए विश्व कप के लिए भारतीय टीम में जगह बनाने में नाकाम रहीं जेमिमा ने गुरुवार को श्रीलंका के खिलाफ वापसी करते हुए 27 गेंद में नाबाद 36 रन बनाकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई.

पंत और रोहित ने की थी जेमिमा से बात

जेमिमा ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, पिछले श्रीलंका दौरे के बाद से मेरा सफर आसान नहीं रहा, मुझे उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ा. मैंने रोहित शर्मा और ऋषभ पंत से बात की, उन्होंने मुझे कहा कि इन्हीं लम्हों से आपका करियर परिभाषित होगा, उन्होंने मुझे कहा कि इसे (विश्व कप से पहले टीम से बाहर होना) नकारात्मक रूप से नहीं लीजिए. उन्होंने कहा,उन्होंने मुझे कहा कि मुझे चुनौती का सामना करना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए. मैं खुशकिस्मत रही कि उनसे बात करने का मौका मिला.

जेमिमा ने अपने खेल पर की मेहनत

पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरी जेमिमा श्रीलंका की गेंदबाजों द्वारा बनाए दबाव में नहीं आई और भारतीय टीम के लिए महत्वपूर्ण रन जुटाए. उन्होंने अपनी पारी में तीन चौके और एक छक्का जड़ा. भारत ने छह विकेट पर 138 रन बनाए और फिर गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से 34 रन की जीत दर्ज की. महज 139 रन के स्कोर का बचाव करते हुए बायें हाथ की स्पिनर राधा यादव (22 रन देकर दो विकेट) ने पावरप्ले के बाद अपनी मौजूदगी दर्ज करायी और खतरनाक दिख रही श्रीलंकाई कप्तान चामरी अटापट्टू (16 रन) और हर्षिता मादावी (10 रन) को तीन गेंद के अंदर आउट कर दिया. सात ओवर में श्रीलंका ने 27 रन के अंदर तीन विकेट गंवा दिये थे. इसके बाद टीम दबाव में आ गयी और वह कभी भी लक्ष्य के करीब पहुंचती नहीं दिखी. जेमिमा ने कहा, पिछले चार से पांच महीने में मैंने अपने खेल को बेहतर तरीके से समझा है. मैं धैर्यवान बनी हूं. मैं बदल गई हूं लेकिन मेरा लक्ष्य नहीं बदला है.

जेमिमा के लिए मायने रखती है यह पारी

उन्होंने कहा, टीम से बाहर किए जाने के तुरंत बाद मैंने तैयारी शुरू कर दी थी. पारी के महत्वपूर्ण समय में क्रीज पर उतरी जेमिमा ने कहा कि वह शुरुआत में नर्वस थी. उन्होंने कहा, यह पारी काफी मायने रखती है, शुरुआत में मैं नर्वस थी लेकिन लेट कट से बाउंड्री जड़ने से मदद मिली जिससे चीजें आसान हो गईं. मैंने चार-पांच महीने बाद टीम में वापसी की है या इससे भी अधिक समय बाद. मैं उत्साह से भरी थी.

Similar Posts