जहांगीरपुरी की जामा मस्जिद कमेटी का ऐलान, आज जुमे की नमाज के लिए छोटे बच्चे ना आएं..

जहांगीरपुरी की जामा मस्जिद से ऐलान किया गया है कि आज जुमे की नमाज के लिए छोटे बच्चे मस्जिद न आएं. बताया जा रहा है कि ये ऐलान ऐहतियातन किया गया है ताकि कोई बच्चा गलती से खेल-खेल में कहीं किसी पर भी पत्थर वगैरह न फेंक दे. मस्जिद की ओर से शांतिपूर्वक जुम्मे की नमाज पढ़ने का ऐलान किया गया है.

उधर, दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हुई बुलडोजर कार्रवाई पर बवा’ल अभी थमा भी नहीं है कि अब दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने ईस्ट और साउथ मेयर को पत्र लिख डाला है. मांग की गई है कि उनके इलाकों में भी अब बुलडोजर कार्रवाई की जाए.

आदेश गुप्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि दिल्ली में ज्यादातर जगहों पर अतिक्र’मण बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुसलमानों द्वारा किया गया है. पिछले 8 सालों में तो ये अतिक्रमण कुछ ज्यादा ही हुआ है. इन घुसपै’ठियों को अरविंद केजरीवाल का संरक्षण प्राप्त है. अब समय आ गया है कि उनकी पहचान की जाए और फिर वहां पर बुलडोजर कार्रवाई की जाए.

आदेश गुप्ता ने जोर देकर कहा कि वोट बैंक राजनीति की वजह से कुछ दलों ने इन लोगों को यहां पर बसने का मौका दिया है. वे कहते हैं कि जहांगीरपुरी हिं’सा के बाद एक गैं’ग आरोपि’यों की संपत्ति को बचाने में लगी हुई है. ये वहीं गैं’ग है जो पिछले 60 साल से जाति-धर्म के नाम पर इन लोगों को संर’क्षण दे रही है. सुप्रीम कोर्ट में जो वकील रोहिंग्याओं की पैरवी भी कर रहे हैं, वो वहीं हैं जिन्होंने एक समय राम मंदिर बनने का विरो’ध किया था. आदेश गुप्ता की माने तो ऐसे तमाम संगठनों का समर्थन आम आदमी पार्टी को दिल्ली, पंजाब और उत्तराखंड में मिलता है.

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अब क्योंकि दं’गा करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है, बुलडोजर चलाया जा रहा है, ऐसे में पूरा विपक्ष इस एक मुद्दे पर एकजुट होने का प्रयास कर रहा है. आदेश गुप्ता आगे कहते हैं कि ये हर कोई जानता है कि इन रोहिंग्या बांग्लादेशियों को किसने बसने का मौका दिया है. पहले जो काम कांग्रेस करती थी, अब वो भूमिका आम आदमी पार्टी निभा रही है. इन लोगों ने ही पार्क-स्कूलों में उनका अतिक्रमण होने दिया है. जहां भी आप के पार्षद हैं, वो इन्हें एक वोटबैंक की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं.

आदेश गुप्ता की माने तो एजेंसियों द्वारा किसी भी जाति-धर्म देखकर बुलडोजर नहीं चलाया जा रहा है, लेकिन विपक्ष इसलिए इनका समर्थन कर रहा है क्योंकि उनकी खुद की उम्मीदों पर बुलडोजर चल चुका है.

क्या है जहांगीरपुरी हिं’सा का पूरा मामला? जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हनुमान जयंती शोभायात्रा के दौरान दो समुदायों के बीच संघ’र्ष हो गया था जिसमें आठ पु’लिस कर्मी और एक स्थानीय शख्स ज’ख्मी हो गया था. पुलिस के मुताबिक, सं’घर्ष के दौरान पथराव और आगज़’नी की हुई थी और गाड़ियों को भी ज’ला दिया गया था.

क्राइम ब्रांच को सौंपा गया मामला दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने सोमवार को बताया था कि हिं’सा मामले की जांच अप’राध शाखा को सौंपी गई है और इसके लिए 14 टीमें बनाई गई हैं. पुलिस के अनुसार, वह 200 से अधिक वीडियो की पड़ताल कर रहे हैं ताकि उन लोगों की पहचान की जा सके जो हिं’सा के पीछे थे.

क्या है NSA एक्ट ? नेशनल सिक्योरिटी एक्ट (एनएसए) या राष्ट्रीय सुरक्षा कानून या फिर रासुका, एक ऐसा कानून है जिसके तहत किसी खास ख’तरे के चलते व्यक्ति को हिरा’सत में लिया जा सकता है. अगर स्थानीय प्रशासन को किसी शख्स से देश की सुरक्षा और सद्भाव का सं’कट महसूस होता है तो ऐसा होने से पहले ही वह उस शख्स को पकड़ सकती है. यह कानून प्रशासन को किसी व्यक्ति को महीनों तक हिरासत में रखने का अधिकार देता है.

The post जहांगीरपुरी की जामा मस्जिद कमेटी का ऐलान, आज जुमे की नमाज के लिए छोटे बच्चे ना आएं.. first appeared on .

The post जहांगीरपुरी की जामा मस्जिद कमेटी का ऐलान, आज जुमे की नमाज के लिए छोटे बच्चे ना आएं.. appeared first on .

Similar Posts