जम्मू-कश्मीर: राहुल भट्ट की पत्नी को मिलेगी सरकारी नौकरी, बेटी को फ्री एजूकेशन, SIT की टीम करेगी मामले की जांच

Kashmiri Pandit Rahul Bhat

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) ने चदूरा तहसील कार्यालय के कर्मचारी राहुल भट (Rahul Bhat) की हत्या की जांच के लिए एसआईटी (SIT) का गठन किया है. साथ ही संबंधित थाने के एसएचओ को भी अटैच किया गया है. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर प्रशासन जम्मू में राहुल भट की पत्नी को सरकारी नौकरी और परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करेगा. साथ ही बेटी की पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी. गुरुवार को आतंकवादियों ने श्रीनगर में गोली मारकर कश्मीरी पंडित राहुल भट की हत्या कर दी थी.

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कश्मीरी पंडित समुदाय के सरकारी कर्मचारी राहुल भट के परिजनों से मिले और उन्हें इंसाफ दिलाने का भरोसा दिलाया. मनोज सिन्हा ने कहा कि आतंकवादियों और उनके समर्थकों को इस जघन्य कृत्य के लिए बहुत भारी कीमत चुकानी होगी. उपराज्यपाल ने राहुल भट की हत्या के खिलाफ घाटी में जारी कश्मीरी पंडितों के प्रदर्शन के बीच उनके परिजनों से मुलाकात की. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि राहुल भट के परिजनों से मुलाकात की और परिवार को इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया. दुख की इस घड़ी में सरकार राहुल भट के परिवार के साथ खड़ी है. मनोज सिन्हा ने कहा कि आतंकवादियों और उनके समर्थकों को इस बर्बर कृत्य के लिए बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.

राहुल भट की हत्या की जांच के लिए एसआईटी का किया गया गठन

राहुल भट की हत्या के विरोध में कश्मीरी पंडितों ने किया विरोध-प्रदर्शन

2010-11 में जम्मू-कश्मीर में प्रवासियों के लिए विशेष रोजगार पैकेज के तहत क्लर्क की नौकरी पाने वाले राहुल भट को आतंकवादियों ने गुरुवार को बडगाम जिले के चदूरा कस्बे में गोली मार दी थी. कश्मीरी पंडित समुदाय के सदस्य सरकार पर उनके जीवन की रक्षा करने में नाकाम रहने का आरोप लगाते हुए विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. वे सरकार से समुदाय की सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम करने की मांग भी कर रहे हैं.

जम्मू में शुक्रवार को राहुल भट के आवास पर अंतिम संस्कार के लिए सैकड़ों कश्मीरी पंडित एकत्र हुए. अंतिम संस्कार में जम्मू-कश्मीर की बीजेपी इकाई के अध्यक्ष रविंद्र रैना और अन्य पार्टी नेता भी शामिल हुए, लेकिन उन्हें कश्मीरी पंडित समुदाय के सदस्यों के गुस्से का शिकार होना पड़ा. कश्मीरी पंडितों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और बीजेपी के खिलाफ नारेबाजी की.

(इनपुट- भाषा के साथ)

Similar Posts