चीन को बाइडेन की फिर दो टूक, कहा- किसी भी हमले से ताइवान को बचाएगा अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि कहा कि अमेरिका की ओर से उसकी वन चाइना पॉलिसी कभी नहीं बदली है. बाइडेन इससे पहले भी कई बार ताइवान का समर्थन करते हुए चीन को चेतावनी दे चुके हैं.

जो बाइडेन ने इंटरव्‍यू में फिर चीन को दी चेतावनी.

Image Credit source: PTI

ताइवान के खिलाफ चीन लगातार कदम उठा रहा है. चीन की इसी हिमाकत को देखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक बार फिर चीन को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर ताइवान पर कोई भी हमला होता है तो अमेरिका उसकी रक्षा करेगा. जो बाइडेन ने यह बातें रविवार को प्रसारित हुए एक इंटरव्यू में कहीं. उन्होंने इस दौरान इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि क्या ताइवान स्वतंत्र है या उसे होना चाहिए, लेकिन उन्होंने इस दौरान इस बात का जवाब जरूर दिया कि अमेरिका ताइवान की रक्षा करेगा.

बाइडेन ने इंटरव्यू के दौरान कहा कि हां, वहां एक अचानक हमला हुआ था. उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका की ओर से उसकी वन चाइना पॉलिसी कभी नहीं बदली है. उन्होंने कहा, ‘लंबे समय पहले हमने जिस पर हस्ताक्षर किए थे हम उससे सहमत हैं. वन चाइना पॉलिसी है और ताइवान अपनी स्वतंत्रता को लेकर खुद को निर्णय ले सकता है. हम कहीं नहीं जा रहे हैं. हम उन्हें स्वतंत्र होने के लिए प्रेरित नहीं कर रहे. यह उनका खुद का फैसला है.’

नैंसी पेलोसी के दौरे से भड़का हुआ है चीन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन इससे पहले भी कई बार ताइवान का समर्थन करते हुए चीन को चेतावनी दे चुके हैं. अमेरिकी प्रतिनिधिसभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने इसी साल मई में ताइवान का दौरा किया था. उनके इस दौरे को लेकर चीन भड़का हुआ था. दरअसल वह ताइवान को अपना हिस्सा होने का दावा करता है. इसी के चलते ताइवान पहुंची नैंसी पेलोसी के साथ ही चीन ने ताइवान के चारों को समुद्र में अपनी नौसेना भेजकर सैन्य अभ्यास का ऐलान कर दिया था. कई्र दिनों तक चले इस सैन्य अभ्यास के पहले ही अमेरिका ने ताइवान का समर्थन किया था और कहा था कि वह हमेशा ताइवान के साथ खड़ा रहेगा.

ये भी पढ़ें



अमेरिका ने एक अरब डॉलर के और हथियार ताइवान को दिए

एक अमेरिकी अफसर ने भी रविवार को कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडेन पहले भी लगातार ऐसे बयान देते आए हैं और उन्होंने यह भी कहा है कि अमेरिका की नीति में कभी बदलाव नहीं हुआ. इसी महीने अमेरिका ने ताइवान को फिर से हथियरों की नई सप्लाई बेचने का ऐलान किया है. इनकी कुल कीमत 1 अरब डॉलर है. नेशनल सेक्योरिटी काउंसिल के प्रवक्ता जॉन किर्बी का कहना है कि अमेरिका लगातार ताइवान की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता जता रहा है और आगे बढ़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.