चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी प्रशासन ने हॉस्टल किया बंद, गेट फांदकर प्रदर्शन में शामिल हो रहीं छात्राएं

सामने आई नई वीडियो में छात्राएं हॉस्टल का गेट फांदकर प्रदर्शन करने के लिए बाहर जाती नजर आ रही हैं.

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी प्रशासन ने हॉस्‍टल किया बंद

Image Credit source: PTI

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल से एक आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने की खबर सामने आने के बाद छात्राओं का प्रदर्शन जारी है. छात्राओं के प्रोटेस्ट के बाद वहां हॉस्टल के गेट बंद कर दिए गए है. इस हॉस्टल में प्रदर्शन शनिवार से जारी है. सामने आई नई वीडियो में छात्राएं हॉस्टल का गेट फांदकर प्रदर्शन करने के लिए बाहर जाती नजर आ रही हैं. सूत्रों ने बताा कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए टैगोर हॉस्टल के बाहर गेट बंद कर दिए थे.

पंजाब पुलिस और मोहाली जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने तनाव कम करने के लिए रविवार शाम छात्राओं के एक ग्रुप से मुलाकात की.पुलिस ने बताया कि हॉस्टल की एक छात्रा ने हिमाचल प्रदेश के एक व्यक्ति के साथ एक प्राइवेट वीडियो शेयर किया था.हालांकि यूनिवर्सिटी ने एक बयान जारी कर में छात्रों की आत्महत्या और कई आपत्तिजनक वीडियो के लीक होने की खबर को अफवाह बताया है.

छात्रा पुलिस की हिरासत में

वहीं पुलिस में मामला दर्ज कर छात्रा को हिरासत में ले लिया है, जबकि हिमाचल प्रदेश में युवक को पकड़ने के लिए भी एक टीम भेजी गई है. हॉस्टल में करीब चार हजार छात्राएं रहती हैं. इनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है.उसका फोन जब्त कर लिया गया है और साइबर क्राइम यूनिट इसकी जांच कर रही है.”

बीती रात हुए प्रदर्शन के बाद स्थिति का जायजा लेने के लिए अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के परिसर पहुंचीं पंजाब की अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक गुरप्रीत देव ने संवाददाताओं से कहा कि ऐसा लगता है कि आरोपी छात्रा ने अपना एक वीडियो युवक के साथ शेयर किया और किसी अन्य छात्रा का कोई आपत्तिजनक वीडियो नहीं मिला है.

किसी छात्रा के आत्महत्या की कोशिश करने का मामला सामने नहीं आया

यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने भी उन खबरों को झूठी और निराधार बताकर खारिज कर दिया, जिनमें दावा किया गया था कि विश्वविद्यालय के छात्रावास में कई छात्राओं के वीडियो बनाए गए और सोशल मीडिया पर साझा किए गए और कई छात्राओं ने इस प्रकरण के बाद आत्महत्या का प्रयास किया.

मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक शील सोनी ने संवाददाताओं को बताया कि कई छात्राओं का वीडियो बना कर लीक किए जाने की अफवाह के बाद विश्वविद्यालय में आधीरात के बाद प्रदर्शन हुआ. उन्होंने कहा कि गिरफ्तार छात्रा का मोबाइल फोन फॉरेंसिक जांच के लिये जब्त कर लिया गया है और किसी छात्रा के आत्महत्या की कोशिश करने का मामला सामने नहीं आया है और इस मामले में किसी की मौत नहीं हुई है.

अधिकारियों ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा- 354 सी और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है. मुख्यमंत्री मान ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं और कहा कि दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

मुख्यमंत्री मान ने ट्वीट किया, चंडीगढ़ विश्वविद्यालय की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे में सुनकर दुख हुआ…हमारी बेटियां हमारा सम्मान हैं…मामले में उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं…जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा, मैं प्रशासन के संपर्क में हूं. इसके साथ ही मान ने लोगों से अफवाहों पर गौर नहीं करने की अपील की. इस घटना को लेकर राजनीतिक दलों की तरफ से भी तीखी प्रतिक्रियाएं आईं और केंद्र व राज्य महिला अधिकार निकायों ने भी दखल दिया.

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मामले में संलिप्त लोगों को कठोरतम सजा मिलेगी. केजरीवाल ने ट्वीट किया, पीड़ित बेटियां हिम्मत रखें. हम सब आपके साथ हैं. सभी संयम से काम लें.

(भाषा से इनपुट)

Leave a Reply

Your email address will not be published.