खरगोन हिंसा: पुलिस ने तेज की कार्रवाई, 106 फरार आरोपियों पर इनाम की घोषणा, दो पर लगा रासुका, अब तक 154 गिरफ्तार

Khargone Violence

खरगोन हिंसा (Khargone Violence) मामले में मध्य प्रदेश पुलिस (MP Police) की कार्रवाई में तेजी आई है. पुलिस ने 106 फरार आरोपियों पर 10 हजार रुपये के इनाम (Reward) की घोषणा की है. वहीं दो आरोपी मोहसिन और नवाज पर NSA के तहत कार्रवाई की जाएगी. पुलिस ने कहा कि उपद्रवी जो अभी फरार हैं, ऐसे 106 आरोपियों पर हमने इनाम की घोषणा की है. वहीं खरगोन हिंसा से प्रभावित लोगों के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने सेहत राशि के रूप में 1 करोड़ रुपये आवंटित किए है. मामले में अब तक 63 एफआईआर (FIR) दर्ज की गई हैं और 154 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. जानकारी के अनुसार एसपी ऑफिस ने इन सभी फरार आरोपियों की लिस्ट जारी कर दी है.

प्रभारी पुलिस अधीक्षक रोहित काशवानी ने बताया कि 10 अप्रैल को हुई हिंसा में संलिप्त तालाब चौक इलाके के निवासी नवाज और मोहसिन के खिलाफ एनएसए लगाया गया है. वहीं खरगोन में बुधवार को सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक 6 घंटे की छूट दी गई थी. बैंक और पोस्ट-ऑफिस खुलने से दोनों जगह भीड़ दिखी. वहीं एटीएम पर भी काफी लोग नजर आए. कर्फ्यू में छूट मिलने से लोगों को काफी राहत मिली है.

अवैध मकानों पर चला था बुलडोजर

10 अप्रैल को खरगोन में रामनवमी के जुलूस पर पथराव हुआ था. इसी के साथ कई गाड़ियों और घरों में आग लगा दी गई थी. इस घटना के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कड़ी नाराजगी जताई थी. सीएम के निर्देश पर पुलिस प्रशासन 11 अप्रैल को दंगे में शामिल लोगों के अवैध मकानों और दुकानों पर बुलडोजर चलाया था.

गोली चलाने वाले शख्स की हुई पहचान

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को बताया कि खरगोन में 10 अप्रैल को रामनवमी पर हुई सांप्रदायिक झड़पों के दौरान पुलिस अधीक्षक (एसपी) सिद्धार्थ चौधरी पर गोली चलाने वाले शख्स की पहचान हो गई है और उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. चौधरी के पैर में गोली लगी थी और घटना के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी हालत स्थिर है. मिश्रा ने कहा कि सांप्रदायिक हिंसा के दौरान पथराव करने वालों की वीडियो फुटेज के जरिए पहचान की जा रही है.

मोहसिन पर दर्ज हैं 10 से ज्यादा केस

उन्होंने कहा कि खरगोन एसपी सिद्धार्थ चौधरी को गोली मारने वाले शख्स की पहचान वसीम उर्फ मोहसिन के रूप में हुई है और उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक हिंसा के सिलसिले में अब तक 154 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. गृह मंत्री ने कहा कि हिंसा में कथित संलिप्तता के लिए नवाज और मोहसिन के खिलाफ कड़े राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि मोहसिन के खिलाफ 10 से अधिक और नवाज के खिलाफ आठ से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज किए गए थे.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि नवाज खरगोन शहर के तालाब चौक इलाके का रहने वाला है और मोहसिन उर्फ नाटी जकारिया मस्जिद इलाके का रहने वाला है. मध्य प्रदेश के दंगा प्रभावित खरगोन शहर में कर्फ्यू में बुधवार को सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक की ढील दी गई थी.

Similar Posts