क्रेडिट और डेबिट कार्ड के लिए RBI ने जारी किया नए नियम, क्रेडिट कार्ड होल्डर इन बातों को जरूर जानें

RBI on credit card

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) ने क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड (Credit/Debit card) के लिए मास्टर सर्कुलर जारी किया है. इस सर्कुलर के मुताबिक, अब रूरल बैंक भी क्रेडिट कार्ड जारी कर सकते हैं. हालांकि इसके लिए रूरल बैंक को स्पॉन्सर बैंक के साथ करार करना होगा. अगर अर्बन को-ऑपरेटिव का फाइनेंशियल कंडिशन मजबूत है तो वे भी क्रेडिट कार्ड जारी कर सकते हैं. जानकारों का कहना है कि मास्टर सर्कुलर इस बात का संकेत दे रहा है कि रिजर्व बैंक आने वाले दिनों में नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनीज यानी NBFCs को भी क्रेडिट कार्ड जारी करने की अनुमति दे सकता है. अगर कोई एनबीएफसी क्रेडिट कार्ड जारी करना चाहता है तो उसे रिजर्व बैंक की मंजूरी जरूरी है.

रिजर्व बैंक का नया सर्कुलर सभी शेड्यूल कमर्शियल बैंक, स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक्स, डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक्स, नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनीज (NBFCs) पर लागू होता है. हालांकि, पेमेंट बैंक पर रिजर्व बैंक का यह नियम लागू नहीं होगा.

RBI की अनुमित बिना NBFC डेबिट कार्ड भी जारी नहीं कर सकते

रिजर्व बैंक ने 21 अप्रैल को जारी सर्कुलर में कहा कि एनबीएफसी को क्रेडिट कार्ड बिजनेस शुरू करने से पहले आरबीआई से अनुमति लेनी होगी. इसके लिए एनबीएफसी के पास अपना 100 करोड़ का फंड होना जरूरी है. रिजर्व बैंक की अनुमति के बिना एनबीएफसी क्रेडिट कार्ड तो दूर की बात है, डेबिट कार्ड भी जारी नहीं कर सकते हैं.

ग्रामीण बैंक भी क्रेडिट कार्ड जारी कर सकते हैं

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक स्पॉन्सर बैंक के साथ मिलकर क्रेडिट कार्ड जारी कर सकते हैं. अगर अर्बन को-ऑपरेटिव की वित्तीय स्थिति मजबूत है तो वे भी क्रेडिट कार्ड जारी कर सकते हैं. हालांकि, इसके लिए 100 करोड़ का मिनिमम नेटवर्थ जरूरी है. इसके अलावा भी कुछ शर्तों को मानना जरूरी है.

यह खबर अभी लिखी जा रही है…

Similar Posts