क्या है पुतिन की Sarmat मिसाइल जो रूस के ‘दुश्मनों को सोचने पर मजबूर कर देगी’? जानें क्यों है इतनी खास

Sarmat Ballistic Missile Afp

रूस और यूक्रेन (russia-ukraine war) के बीच करीब दो महीने से चल रहे जंग के बीच, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कल बुधवार को कहा कि रूस ने सरमत इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (Sarmat intercontinental ballistic missile) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है, जो दुनिया की सबसे शक्तिशाली मिसाइल है जिसके बारे में कहा जाता है कि यह किसी भी मिसाइल डिफेंस (missile defence) को भेदने में सक्षम है. इसे बोलचाल की भाषा में सतन (satan) के नाम से भी जाना जाता है.

Sarmat इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण रूस की रक्षा के लिए एक बड़ी और महत्वपूर्ण घटना मानी जा रही है. राष्ट्रपति पुतिन ने इस परीक्षण के बाद मिसाइल की तारीफ में कहा कि इसके बारे में रूस के दुश्मन दो बार सोचेंगे.

Sarmat इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल की क्या खासियत है और पुतिन क्यों इसकी तारीफ कर रहे हैं, इसके बारे में आपको कुछ जानने की जरूरत है.

  1. रक्षा मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि Sarmat इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल को प्लासेत्स्क कोस्मोड्रोम से दागा गया, जो राजधानी मॉस्को से उत्तर में करीब 800 किमी दूर उत्तरी आर्कान्जेस्क क्षेत्र (northern Arkhangelsk region) में पड़ता है.
  2. पहले परीक्षण प्रक्षेपण में, मिसाइल ने रूस के सुदूर पूर्व में करीब 6,000 किमी (3,700 मील) दूर कामचटका प्रायद्वीप (Kamchatka peninsula) में लक्ष्य को निशाना बनाया.
  3. ऐसा माना जाता है कि मिसाइल का वजन 200 टन से अधिक है और यह 10 से अधिक आयुधों (warheads) को ले जाने में सक्षम है.
  4. रूसी मीडिया के अनुसार, Sarmat एक तीन चरणों वाली, तरल-ईंधन वाली मिसाइल (liquid-fueled missile) है जिसकी मारक क्षमता 18,000 किमी और प्रक्षेपण वजन 208.1 मीट्रिक टन है. यह मिसाइल 35.3 मीटर लंबी और व्यास 3 मीटर की है.
  5. मिसाइल के बारे में माना जाता है कि यह 10 बड़े आयुधों के अलावा, 16 छोटे आयुधों को भी ले जा सकता है, जो आयुध और काउंटरमेशर्स या हाइपरसोनिक बूस्ट-ग्लाइड वाहनों का संयोजन है.
  6. इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल को कई सालों से तैयार किया जा रहा था और यह परीक्षण पश्चिमी देशों के लिए अप्रत्याशित नहीं है.
  7. पेंटागन ने कहा कि यह परीक्षण नियमित है और अमेरिका तथा उसके सहयोगियों के लिए खतरा नहीं है. अमेरिकी रक्षा विभाग ने कहा कि मॉस्को ने Sarmat के परीक्षण शुरू होने से पहले अमेरिका को ठीक से सूचित कर दिया था. जबकि अमेरिका ने रूस के साथ बढ़ते तनाव से बचने के लिए 2 मार्च को Minuteman III ICBM का अपना परीक्षण स्थगित कर दिया था.
  8. स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट में कहा गया है कि एक बार परीक्षण पूरा हो जाने के बाद, रूस के परमाणु बल “इस साल की शरद ऋतु में” नई मिसाइल की डिलीवरी लेना शुरू कर देंगे.

Similar Posts