क्या आप भी Heart Attack से बचने के लिए खाते है ड्राई फ्रूटस, ज्यादा सेवन नहीं है खतरे से खाली

News, New Delhi भारत में हर साल भारी तादाद में लोग हार्ट अटैक की वजह से अपना जिंदगी गंवाते हैं, इसलिए हमें भी इस जानलेनवा बीमारी से सतर्क रहने जररूत हमेशा होती.

हमारे मुल्क में लोग ऑयली और अनहेल्दी डाइट ज्यादा लेते हैं जो भले ही टेस्टी हों, लेकिन दिल की सेहत को काफी नुकसान पहुंचाते हैं. ऐसे में किसी खास ड्राई फ्रूट्स को खाने से हार्ट डिजीज का खतरा कम किया जा सकता है.ग

दिल के लिए क्यों फायदेमंद है अखरोट?

अखरोट को स्टेरोल्स और प्लांट बेस्ड ओमेगा -3 फैटी एसिड का रिच सोर्स माना जाता है, इसमें लिनोलेनिक एसिड भी भरपूर होता है जो कोलेस्ट्रोल के लेवल को कंट्रोल करने में अहम रोल अदा करता है.

याद रखें कि अगर खून की नसों में बैड कोलेस्ट्रॉल का इजाफा होगा तो इससे सबसे पहले ब्लड प्रेशर बढ़ेगा फिर दिल से जुड़ी बीमारियां, जैसे हार्ट अटैक का डर पैदा होगा.

अखरोट के सेवन से खास तौर से शाकाहारियों को फायदा होता है क्योंकि ओमेगा -3 और 6 फैटी एसिड की डेली नीड इससे पूरी हो जाती है.

ज्यादा अखरोट खाना नुकसानदेह

इस बात में कोई शक नहीं कि अखरोट न्यूट्रिएंट्स से भरपूर फूड है लेकिन इसे सीमित मात्रा में ही खाना चाहिए कमजोर लोग अखरोट के 10-12 टुकड़े खा सकते हैं.

जबकि सेहतमंद इंसान 6-7 टुकड़ों का सेवन कर सकते हैं. इससे ज्यादा खाना नुकसानदेह साबित हो सकता है. हार्ट डिजीज के पेशेंट को अखरोट के 2 से 4 टुकड़े ही खाने चाहिए. अगर इसे जरूरत से ज्यादा खाया जाए तो कैलोरी बढ़ जाएगी और फिर फायदे की जगह नुकसान हो जाएगा.

डायबिटीज में भी असदार

अखरोट में पोषक तत्वों की कोई कमी नहीं होती, इसमें फाइबर, विटामिन ई, मिनरल्स और हेल्दी फैट पाए जाते हैं. इसे खाने से न सिर्फ हार्ट अटैक  से बचा सकता है, बल्कि टाइप 2 डायबिटीज के मैनेजमेंट में मदद मिलती है.

डायबिटीज में भी असदार

अखरोट में पोषक तत्वों की कोई कमी नहीं होती, इसमें फाइबर, विटामिन ई, मिनरल्स और हेल्दी फैट पाए जाते हैं. इसे खाने से न सिर्फ हार्ट अटैक  से बचा सकता है, बल्कि टाइप 2 डायबिटीज के मैनेजमेंट में मदद मिलती है.

 

Similar Posts