कोयला घोटाला: ED ने अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा से की 6 घंटे पूछताछ, TMC बोली- राजनीतिक विरोधियों को प्रताड़ित कर रही BJP

Abhishek Banerjee In Agartala

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में करोड़ों रुपए के कोयला चोरी घोटाले की जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) की पत्नी रुजिरा नरुला बनर्जी से पूछताछ की. यह पूछताछ कोलकाता स्थित कार्यालय में करीब छह घंटों तक चली. ईडी की ओर से इस पूछताछ को लेकर राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी नीत केंद्र सरकार पर राजनीतिक प्रतिशोध के चलते एजेंसी के दुरुपयोग का आरोप लगाया है. टीएमसी ने कहा कि सीबीआई और ईडी बीजेपी के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं और राजनीतिक विरोधियों को प्रताड़ित कर रहे हैं.

प्रताड़ित करना बंद नहीं किया गया तो करेंगे विरोध-प्रदर्शन- TMC

तृणमूल कांग्रेस ने चेतावनी दी कि अगर अभिषेक बनर्जी और उनके परिवार को केंद्रीय एजेंसी की ओर से प्रताड़ित करना बंद नहीं किया गया तो उसके कार्यकर्ता विरोध-प्रदर्शन करेंगे. टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने आरोप लगाया, सीबीआई और ईडी बीजेपी के एजेंट की तरह काम कर रहीं हैं और विपक्षी नेताओं को प्रताड़ित किया जा रहा है. जिस तरह से बिना किसी कारण अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी को प्रताड़ित किया जा रहा है, वह अस्वीकार्य है. इसे बंद करना होगा, अन्यथा हम चुपचाप नहीं बैठेंगे. हम इसका विरोध करेंगे. तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश सचिव कुणाल घोष ने दावा किया कि पार्टी को भयभीत करने के लिए बीजेपी घटिया हथकंडे अपना रही है.

बेटे को गोद में लेकर पूछताछ के लिए पहुंची रुजिरा

रुजिरा नरुला बनर्जी यहां सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित ईडी के कार्यालय में सुबह 11 बजे पहुंचीं. उस समय उनकी गोद में उनका बेटा था. ईडी अधिकारी ने बताया कि दो महिला सहित चार अधिकारियों ने रुजिरा से पूछताछ की.उन्होंने बताया, हम उनसे बैंकॉक में खाते से किए गए कुछ लेनदेन के बारे में पूछताछ कर रहे हैं. उनके जवाब का मिलान उन लोगों के बयान से किया जाएगा, जिनसे इसी मामले में पहले पूछताछ की गई थी. अगले दौर की पूछताछ के लिए रुजिरा को कुछ दिन बाद फिर से बुलाया जा सकता है. सीबीआई अबतक घोटाले की जांच के सिलसिले में रुजिरा से दो बार पूछताछ कर चुकी है. केंद्रीय एजेंसी ने पिछले साल रुजिरा की बहन मेनका गंभीर और उनके पति व ससुर से भी पूछताछ की थी.

ईडी कार्यालय के आसपास पुलिस की तैनाती

गौरतलब है कि ईडी को कोयला तस्करी के मामले में बनर्जी और उनकी पत्नी से 24 घंटे पहले नोटिस देकर पूछताछ करने की अनुमति दे दी है. ईडी ने शीर्ष अदालत में पूर्व में सीबीआई अधिकारियों के खिलाफ हुई हिंसा के मद्देनजर चिंता जताई थी. सीबीआई ने जब तृणमूल कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं को अन्य मामलों में समन किया था तब उनका घेराव किया गया था. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एजेंसी ने राज्य पुलिस को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए पत्र भेजा था, जिसके बाद बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती ईडी कार्यालय के आसपास की गई है. यह जांच साल 2020 में करोड़ों रुपए के कोयला चोरी घोटाले के मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से दर्ज प्राथमिकी से जुड़ी है.

Similar Posts