केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने सफारी का दौरा करके बाघ को एक साल के लिए लिया गोद, नाम रखा ‘अग्निवीर’

Ashwini Choubey

देश में बाघों (Tiger) को बचाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे हैं. इस बीच केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) ने बुधवार को बंगाल सफारी (Bengal Safari) नॉर्थ बंगाल वाइल्ड एनिमल्स पार्क का निरीक्षण किया. पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन और उपभोक्ता मामले, खाद्य व सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने इस दौरान एक साल के बाघ को गोद लिया है. उसे उन्होंने एक साल के लिए गोद लिया है. उसकी ओर से इस बाघ को अग्निवीर (Agniveer) नाम दिया गया है.

अश्विनी चौबे ने गंगटोक से लौटने के दौरान बुधवार को बंगाल सफारी का निरीक्षण किया. इस दौरान एडॉप्शन प्रोग्राम या गोद लो अभियान के तहत लोगों में जागरूकता के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री चौबे ने बाघ को गोद लिया. उन्होंने इस दौरान कहा, ‘मैंने केदारनाथ धाम में प्रकृति का रौद्र रूप देखा है. प्रकृति के संरक्षण के लिए सभी को जागरूक रहना चाहिए. ताकि इस तरह की घटनाएं न हों.’

जानवरों का संरक्षण जरूरी: चौबे

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में केंद्र सरकार ने जीव जंतुओं के संरक्षण के लिए व्यापक कदम उठाए हैं. आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर लोगों में जागरूकता के साथ केदारनाथ त्रासदी की याद में बाघ को मैंने गोद लिया है.’ उन्होंने कहा कि पर्यावरण संतुलन में जीव जंतुओं की प्रमुख भूमिका है. ऐसे में उनका संरक्षण जरूरी है.

Ac

अश्विनी चौबे ने बंगाल सफारी का दौरा किया.

70 लोगों ने गोद लिए हैं जानवर

अश्विनी चौबे ने कहा कि जानवरों के संरक्षण के लिए लोगों को नियमित रूप से जागरूक करते रहने की भी जरूरत है. इस मौके पर उन्होंने मौजूदा अधिकारियों को ‘जीव जंतु गोद अभियान’ के बारे में जागरूकता अभियान नियमित रूप से चलाने के लिए निर्देशित किया. केंद्रीय राज्यमंत्री चौबे ने बंगाल सफारी के निरीक्षण के दौरान जीव जंतुओं के रखरखाव के बारे में भी जानकारी हासिल की. एडॉप्शन प्रोग्राम के तहत 70 लोगों ने यहां जानवर गोद लिए हैं. लोगों को अधिक संख्या में जानवरों को गोद लेने के लिए प्रेरित करने के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने टाइगर को गोद लिया.

Tiger

केंद्रीय राज्यमंत्री ने बाघ को लिया गोद.

2 लाख रुपये भी भरे

उन्होंने गोद लिए बाघ के रखरखाव पर होने वाले खर्च 2 लाख का भुगतान ऑनलाइन माध्यम से किया. पीसीसीएफ पश्चिम बंगाल सौमित्रा दास गुप्ता ने कहा कि केंद्रीय राज्यमंत्री चौबे की ओर से टाइगर को गोद लेने से अन्य लोग प्रेरित होंगे. उन्होंने केंद्रीय राज्यमंत्री का आभार व्यक्त किया. बंगाल सफारी निरीक्षण के दौरान आईजी आईआरओ कोलकाता सोमादास, डीएफओ वाइल्ड लाइफ दार्जलिंग हरीश, बंगाल सफारी नॉर्थ बंगाल वाइल्ड एनिमल्स पार्क की सहायक निदेशक अनुराधा राय, नम्रता आदि मौजूद थे.

Similar Posts