कानपुर हिंसा को लेकर क्राउड फंडिंग करने वाले मुख्तार बाबा ने खोले राज, बोला… 500-1000 रुपये देकर बुलाए गए थे पत्थरबाज

Kanpur Clash

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में 3 जून को जुमे की नमाज के बाद बेकनगंज थाना क्षेत्र के नई सड़क इलाके में भड़की हिंसा को लेकर अब बड़े खुलासे हो रहे हैं. इस हिंसा के लिए क्राउडफंडिंग ( crowd funding) के आरोप में गिरफ्तार बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा ने एसआईटी (SIT) के सामने कई राज खोले हैं. जिसके बाद एसआईटी ने उस दिशा में अपनी जांच को बढ़ा दिया है. फिलहाल कोर्ट ने मुख्तार बाबा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. बताया जा रहा है कि बाबा ने बताया कि कानपुर में हिंसा फैलाने के लिए 500-1000 रुपये देकर पत्थरबाजों को बुलाया गया था.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एसआईटी की पूछताछ में मुख्तार बाबा ने क्राउड फंडिंग को लेकर कई राज थखोले हैं और उसने बताया कि बताया है कि हिंसा और उपद्रव भड़काने के लिए पत्थरबाजों को 500-1000 रुपये दिए गए थे. इसके लिए बाबा बिरयानी की दुकान में ही हिंसा की साजिश रची गई थी. असल में बाबा बिरयानी पर प्रशासन का बुलडोजर चला था और इसका ध्यान भटकाने के लिए उसने दंगाइयों को पैसे दिए थे. जिसके बाद कानपुर में हिंसा फैली थी. फिलहाल इस मामले में मास्टरमाइंड जफर हयात हाशमी पुलिस की गिरफ्त में है.

वीडियो कॉल से देख रहे थे लाइव

क्राउड फंडिंग के आरोपी मुख्तार बाबा ने एसआईटी से पूछताछ में बताया कि एक पत्थरबाज को 500 से 1000 रुपये दिए गए थे और हिंसा फैलाने की साजिश उसके दुकान में बनी थी. इसके लिए 15 से 16 युवाओं के ग्रुप बनाए गए थे और उन्हें इसकी जिम्मेदारियां दी गईं थी. जानकारी के मुताबिक मुख्तार बाबा ने कई लोगों के नाम बताए हैं और उसने एसआईटी टीम को बताया कि जब शहर में हिंसा फैलाई जा रही थी तो वह लोग वीडियो कॉल पर लाइव देख रहे थे.

बैंक का पूर्व मैनेजर भी आया जांच के दायरे में

एसआईटी पूछताछ में मुख्तार ने अपने करोड़पति बनने के राज भी उजागर किए हैं और इस मामले में उसकी मदद करने वाला बैंक का एक पूर्व मैनेजर भी जांच के दायरे में आ गया है. बताया जाता है कि पूर्व बैंक मैनेजर ने नियमों की अनदेखी कर सरकारी खजाना मुख्तार बाबा पर लुटाया. हालांकि बात में बैंक ने धोखाधड़ी के मामले में बैंक मैनेजर को बैंक से सस्पेंड कर दिया है और इसके बाद बैंक मैनेजर मुख्तार के धंधे में शामिल हो गया.

Similar Posts