कानपुर में दिखेगा गोवा-मुंबई जैसा नजारा, गंगा की लहरों पर चहलकदमी करते दिखेंगे लोग

Ganga Bairaj

उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर का गंगा बैराज मरीन ड्राइव बनेगा. गंगा बैराज स्थित कानपुर का वोट क्लब जो कि नवंबर के पहले हफ्ते में आम जनमानस के लिए खुल जाएगा. कानपुर के जल क्रीड़ा प्रेमियों के लिए यह बहुत बड़ी खुशखबरी है. वोट क्लब के खुलने के साथ ही वोट रैली कानपुर से प्रयागराज आयोजित की जाएगी, जिसका उद्घाटन सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ कर सकते हैं. फिलहाल इसके शुल्क का निर्धारण नहीं किया जा सका है, लेकिन यहां पहुंचने पर आपको हर तरीके की सुविधाएं क्लब उपलब्ध कराएगा.

कुल मिलाकर बोट क्लब के संचालन का ड्राफ्ट तैयार हो गया है. वोट क्लब संचालन को लेकर जिलाधिकारी विशाखा जी ने गंगा बैराज पर फ्लोटिंग वोट हाउस का सुझाव संचालन समिति को दिया है, जिसमें मीटिंग और खानपान के साथ ही रात विश्राम की भी सुविधा दी जा सकती है. उन्होंने बताया कि केरल में बड़ी संख्या में ऐसे फ्लोटिंग बोट हाउस क्लब संचालित हैं. जिलाधिकारी के इस सुझाव पर कानपुर कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने केरल के वोट क्लब संचालकों से जानकारी लेने का निर्देश दिए हैं, ताकि भविष्य में यह व्यवस्था शुरू की जा सके और कानपुर के गंगा बैराज वोट क्लब को प्रदेश का ही नहीं, बल्कि देश का एक आधुनिक वोट क्लब स्थापित किया जा सके, जिससे प्रदेश में पर्यटन उद्योग को भी चार चांद लगेंगे.

कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने दी जानकारी

बोट क्लब के शुभारंभ का इंतजार कानपुर की जनता बेसब्री से कर रही है. कानपुर मंडल के कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने बताया कि नवंबर माह में वोट क्लब का शुभारंभ हो जाएगा. फिलहाल प्रवेश शुल्क पर अगली बैठक में निर्णय लिया जाएगा. कमिश्नर ने बताया कि बोट क्लब संचालन के लिए थल सेना, जल सेना और जल क्रीड़ा के विशेषज्ञों से प्रस्ताव मांगे गए हैं. साथ ही वोट क्लब के पास बने पाथवे में फूड जोन बनाए जाने को लेकर स्थान चिन्हित करने के लिए कमेटी गठित कर दी गई है. कमेटी 15 दिन में अपनी रिपोर्ट देगी, जिसके बाद यहां पर हेल्दी फूड के स्टोरों को अलॉट कर दिया जाएगा.

रैली के आयोजन में पर्यटन विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका

उच्च समग्र विकास समिति कानपुर के समन्वयक नीरज श्रीवास्तव ने बताया कि नवंबर में उद्घाटन के साथ बोट क्लब 6 दिवसीय गंगा वाटर रैली का भी आयोजन करने जा रहा है. इस रैली की भी भूमिका बना ली गई है. यह रैली कानपुर से प्रयागराज जाएगी. यह रैली ‘गंगा सुनना चाहती है’ का भी संदेश देगी. रैली के आयोजन में उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग, जिला प्रशासन और रायबरेली, प्रतापगढ़, प्रयागराज के पीएसी एवं पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी.