कर्नाटक: हुबली में 23 अप्रैल तक जारी रहेगा कर्फ्यू,134 से ज्यादा लोग गिरफ्तार, बच्चों को मिली एग्जाम देने की परमिशन

कर्नाटक पुलिस (Karnataka Police) ने हुबली शहर (Hubli) में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कर्फ्यू आदेश 23 अप्रैल तक बढ़ा दिया है. निषेधाज्ञा 17 से 20 अप्रैल तक लागू की गई थी. स्थिति की समीक्षा के बाद कर्फ्यू शनिवार तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. कानून-व्यवस्था की स्थिति के संबंध में 12 मामले दर्ज किए गए और 134 से ज्यादा गिरफ्तारियां की गई हैं. हुबली-धारवाड़ पुलिस आयुक्त लाभू राम ने बताया कि पथराव (Stone Pelting Incident) की घटना के सिलसिले में न्यायिक हिरासत में बंद एक छात्र को अदालत ने परीक्षा लिखने की अनुमति दे दी है.

ओल्ड हुबली थाने में 16 अप्रैल को पथराव की घटना हुई थी जिसमें एक इंस्पेक्टर समेत चार पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.थाने के बाहर जमा भीड़ अचानक हिंसक हो गई और थाने व पुलिस वाहनों पर पथराव शुरू कर दियाइस बीच पुलिस मौलाना वसीम पठान की तलाश में जुटी है जो शनिवार रात से गायब है. पुलिस को शक है कि वसीम पठान ने ही भीड़ को उकसाया था. अब वसीम पठान ने वीडियो जारी कर कहा कि वह बेगुनाह है और जल्द ही पुलिस के सामने हाज़िर होगा.

सोशल मीडिया पर वसीम पठान ने दिया बयान

वसीम पठान के मुताबिक सोशल मीडिया पर उसके खिलाफ माहौल बनाया गया है, जो एक साजिश है. सोशल मीडिया में मेरे हवाले से जिस तरीके से माहौल बनाया जा रहा है कि मैं ही उसका मास्टरमाइंड हूं. यह सरासर गलत है. ऐसा न कोई इरादा था न कोई खयाल था. यह मेरे खिलाफ रची गई एक साजिश है. उस वीडियो में अचानक वहां पर लाइट बंद हो जाती है, चंद नकाबपोश लोग आते है और पथराव करते हैं. मैं बहुत जल्द हाज़िर होकर इन इकजामत का जवाब दूंगा और अगर मैं कई गुनहगार पाया जाता हूं तो इन लोगों का हक है कि मुझे सजा दें.

पांच थानों में निषेधाज्ञा रहेगी जारी

इस बीच हुबली-धारवाड़ के पुलिस आयुक्त लाभू राम ने कर्फ्यू की अवधि बढ़ाने की घोषणा करते हुए कहा कि हुबली शहर के दक्षिण डिवीजन की पांच पुलिस थाना सीमाओं में निषेधाज्ञा लागू रहेगी. पुलिस ने बीते शनिवार की रात बड़े पैमाने पर हुई हिंसा में शामिल रहे बदमाशों की तलाश तेज कर दी है. विशेष टीमें उन गिरोहों पर फोकस कर रही हैं, जिन्होंने हिंसा के दौरान पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया था. सूत्रों के मुताबिक इस घटना के सिलसिले में अब तक 200 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया है और 134 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

शनिवार रात हिंसा में कई पुलिस वाले हुए थे घायल

सोशल मीडिया पर एक आपत्तिजनक पोस्ट के सामने आने के बाद शनिवार देर रात को हुबली में हिंसा भड़क उठी थी. हुबली को ‘छोटा मुंबई’ कहा जाता है, जो उत्तरी कर्नाटक क्षेत्र का व्यावसायिक केंद्र है. पुलिस द्वारा आरोपी युवक को सौंपने से इनकार किए जाने पर हुबली में हजारों लोग थाने के सामने जमा हो गए और बड़े पैमाने पर हिंसा में शामिल हो गए.

Similar Posts