कर्नाटक कांग्रेस में फिर विवाद, भारत जोड़ो यात्रा से पहले डीके शिवकुमार और सिद्धारमैया आमने-सामने

कर्नाटक में अगले साल राजस्थान के साथ ही विधानसभा चुनाव होने हैं. भारत जोड़ो यात्रा के अंतर्गत हिस्सा लेने वाले कांग्रेस कार्यकर्ता कर्नाटक में सबसे ज्यादा लंबा समय बिताएंगे.

कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार.

Image Credit source: डीके शिवकुमार के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से.

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा चल रही है. राहुल गांधी हर दिन 13-14 किलोमीटर पैदल यात्रा कर लोगों को कांग्रेस के साथ जोड़ रहे हैं. इस राजनीतिक यात्रा से कांग्रेस और राहुल गांधी दोनों को सुधार की उम्मीद है मगर पार्टी के भीतर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. अभी राहुल गांधी दक्षिण भारत में हैं. इसके बाद ये यात्रा अन्य राज्यों में प्रवेश करेगी. इससे पहले ही कर्नाटक कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व में टकराव वाली स्थिति पैदा हो गई है. भारत जोड़ो यात्रा 30 सितंबर को 22 दिनों के लिए कर्नाटक में प्रवेश करने के लिए तैयार है. लेकिन कर्नाटक कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है.

कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया वर्चस्व की लड़ाई लड़ रहे हैं. डीके शिवकुमार का कहना है कि पार्टी में कुछ लोग यात्रा की सफलता के लिए पर्याप्त रूप से साथ नहीं दे रहे हैं. अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि सिद्धारमैया खेमे ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को कोई श्रेय देने से इनकार किया है. कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 30 सितंबर को 22 दिनों के लिए कर्नाटक में प्रवेश करने जा रही है. ऐसे में पार्टी के राज्य प्रमुख डीके शिवकुमार और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के बीच अनबन ने फिर से राज्य इकाई में एकता न होने का खतरा मंडरा गया है.

अगले साल होने हैं कर्नाटक में चुनाव

कर्नाटक में अगले साल राजस्थान के साथ ही विधानसभा चुनाव होने हैं. भारत जोड़ो यात्रा के अंतर्गत हिस्सा लेने वाले कांग्रेस कार्यकर्ता कर्नाटक में सबसे ज्यादा लंबा समय बिताएंगे. वो यहां 22 दिनों के लिए रुकेंगे. लेकिन कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी (केपीसीसी) के गुट एकजुट होने के लिए संघर्ष करते दिख रहे हैं. डीके शिवकुमार ने यात्रा को सफल बनाने के लिए कथित तौर पर कदम नहीं उठाने के लिए पार्टी सहयोगियों की खिंचाई की.

सिद्धारमैया गुट पर निशाना

शुक्रवार को एक बैठक में शिवकुमार ने सिद्धारमैया गुट पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) ने दैनिक आधार पर राजनीतिक विश्लेषण करने के लिए सुनील (राजनीतिक रणनीतिकार सुनील कानूनगोलू) के नेतृत्व में एक अलग टीम नियुक्त की है. सभी निर्वाचन क्षेत्रों में लगभग 600 लोग हैं जो कांग्रेस के सभी संभावित उम्मीदवारों को देख रहे हैं. हम उन्हें जानते हों या नहीं जानते हों. वे सभी मौजूदा, हारे हुए और महत्वाकांक्षी विधायकों को देख रहे हैं.

ये भी पढ़ें



डीके शिवकुमार ने लगाए आरोप

पूर्व राज्य कांग्रेस प्रमुख आरवी देशपांडे का नाम लेते हुए डीके शिवकुमार ने कहा, मैंने देशपांडे को भारत जोड़ो यात्रा के लिए अपने निर्वाचन क्षेत्र से 5,000 लोगों को लाने के लिए कहा. उन्होंने (देशपांडे) ने कहा कि उन्हें लोग नहीं मिल सकते क्योंकि उनका निर्वाचन क्षेत्र बहुत दूर है. शिवकुमार ने कहा कि क्या हम राहुल गांधी की खातिर सिर्फ एक दिन के लिए ऐसा नहीं कर सकते?

Leave a Reply

Your email address will not be published.