कम कमाई वालों के लिए शानदार सरकारी स्कीम, रोजना 7 रुपये बचाएंगे तो हर महीने 5000 की पेंशन पाएंगे

Atal Pension Scheme

क्या आप असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं? आपकी हर महीने की तनख्वाह या कमाई फिक्स नहीं है? क्या आप महीने में कुछ दिन काम करते हैं और बाकी दिन काम की तलाश में रहते हैं? अगर हां तो आपको एक मुकम्मल फाइनेंशियल प्लानिंग (Financial Planning) की सख्त जरूरत है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि कल होके अचानक बड़ी रकम की जरूरत पड़े तो क्या होगा. खर्च की भरपाई आखिर कैसे होगी. यह समस्या असंगठित क्षेत्र (Unorganised Sector) में काम करने वालों को अधिक होती है क्योंकि हाथ में कोई फिक्स कमाई नहीं होती. न ही इसका कोई बड़ा जरिया होता है. ऐसे में पैसों की प्लानिंग क्या हो, इसके बारे में एक्सपर्ट से जानते हैं.

‘मनी9’ से एक खास बातचीत में वीआर वेल्थ एडवाइजर के फाउंडर विवेक रेगे कहते हैं, असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को अपनी कमाई का पैसा अधिक से अधिक बैंक खाते में मंगाना चाहिए, न कि कैश में. कैश में पैसे आने से खर्च अधिक और बचत न के बराबर होती है. दूसरी बात, जो कुछ भी बचा लेते हैं उसका कुछ हिस्सा निवेश करना चाहिए. रेगे कहते हैं कि इस क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को जीवन बीमा और स्वास्थ्य बीमा जरूर लेना चाहिए. इससे उन्हें इमरजेंसी में किसी बड़े खर्च के बारे में नहीं सोचना पड़ता. इसलिए लोगों को बचत, निवेश और बीमा, इन तीन बातों पर सबसे अधिक फोकस करना चाहिए.

39 साल की उम्र तक ही निवेश

बात जब निवेश की होती है तो असंगठित क्षेत्र के लोगों के लिए सबसे अच्छी स्कीम अटल पेंशन योजना मानी जाती है. नियमित पेंशन पाने के लिए अटल पेंशन योजना में पैसे लगाए जा सकते हैं. इस स्कीम का फायदा आगे चलकर मिलता है. इस स्कीम में ग्राहक को अपनी पेंशन पहले ही फिक्स करनी होती है. जैसे हजार, 2 हजार, 3 हजार या 5 हजार रुपये. आपको अटल पेंशन स्कीम में पेंशन की राशि फिक्स करनी होगी और उसी के हिसाब से पैसे निवेश करने होंगे. कम उम्र वाले लोगों को कम पैसे निवेश करने होते हैं और 40 साल के बाद निवेश करने की सुविधा नहीं मिलती. अगर कोई व्यक्ति 42 रुपये का प्रीमियम देगा तो 60 साल बाद उसे 1000 रुपये की पेंशन मिलेगी. इसी तरह अगर कोई व्यक्ति 210 रुपये का प्रीमियम देगा तो उसे 5000 रुपये की पेंशन मिलेगी.

7 रुपये की बचत से 5000 की पेंशन

हर महीने कम से कम 5000 रुपये की गारंटीड पेंशन के लिए प्रति माह 210 रुपये का निवेश करना होगा. यह राशि तब मिलेगी जब निवेश करने वाले की उम्र 18 साल हो. इस तरह 18 साल का कोई युवा 42 साल तक हर महीने 210 रुपये निवेश करे तो उसे 60 साल की उम्र के बाद कम से कम 5000 रुपये की पेंशन जरूर मिलेगी. पेंशन की इस रकम के लिए हर तिमाही 626 रुपये और हर छमाही 1239 रुपये जमा करने होंगे. 39 साल की उम्र तक का ही व्यक्ति इस योजना में निवेश कर सकता है. इस तरह, 39 साल का व्यक्ति हर महीने 1318 रुपये, हर तिमाही 3928 रुपये या हर छमाही 7778 रुपये जमा करे तो 60 साल की उम्र के बाद 5000 रुपये की पेंशन मिलेगी.

नॉमिनी को फायदा

अटल पेंशन योजना में डेथ बेनेफिट का लाभ नॉमिनी को दिया जाता है. अगर स्कीम के दौरान खाताधारक की मृत्यु हो जाए तो उसके दूसरे जीवनसाथी को पेंशन का लाभ दिया जाता है. अटल पेंशन योजना में खाता खुलवाते ही एक डिफॉल्ट नॉमिनी का नाम जुड़ जाता है. अगर खाताधारक और उसका जीवनसाथी दोनों न रहें तो उन्होंने जिसे नॉमिनी बनाया होगा, उसे पेंशन का लाभ दिया जाता है. एक हजार पेंशन की स्कीम में नॉमिनी को 1.7 लाख, 2000 रुपये की पेंशन स्की में नॉमिनी को 3.4 लाख, 3000 रुपये की पेंशन स्कीम में नॉमिनी को 5.1 लाख, 4000 की पेंशन स्कीम में नॉमिनी को 6.8 लाख और 5000 रुपये की पेंशन स्कीम में नॉमिनी को 8.5 लाख रुपये दिए जाते हैं.

इस योजना के अंतर्गत इनकम टैक्स की धारा 80CD(1B) के तहत टैक्स बचाने की सुविधा मिलती है. इसमें 1.5 लाख रुपये तक टैक्स डिडक्शन के साथ अतिरिक्त 50,000 रुपये बचाए जा सकते हैं. इससे खाताधारक को अपनी टैक्सेबल इनकम घटाने में मदद मिलती है.

Similar Posts