एडमिशन शुरू होते ही सताने लगा रैगिंग का डर! UGC ने जारी किया अलर्ट, आप भी पढ़ लें

UGC ने कॉलेजों को कहा है कि वे एंटी-रैगिंग कमिटी, एंटी-रैगिंग स्क्वाड, एंटी-रैगिंग सेल और कॉलेज के प्रमुख जगहों पर कैमरे इंस्टॉल करे.

UGC ने रैगिंग को लेकर जारी किया नोटिस

Image Credit source: Tv9 Graphics

देशभर के कॉलेजों में जल्द ही नए अकेडमिक सेशन की शुरुआत होने वाली है. ऐसे में यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) ने अभी से ही रैगिंग जैसे गंभीर अपराधों से निपटने की तैयारी कर दी है. UGC ने सभी कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज को कहा है कि वे अपने यहां एंटी-रैगिंग नियमों को कड़ा करें. कमीशन द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के मुताबिक, UGC ने कॉलेज कैंपस में Anti-Ragging Cells बनाने से लेकर सीसीटीवी कैमरा लगाने तक कई एहतियाती कदम उठाने को कहा है. एडमिशन के बाद आमतौर पर कई कॉलेजों में रैगिंग के मामले देखने को मिलते हैं.

UGC ने कॉलेजों को कहा है कि वे एंटी-रैगिंग कमिटी, एंटी-रैगिंग स्क्वाड, एंटी-रैगिंग सेल और कॉलेज के प्रमुख जगहों पर कैमरे इंस्टॉल करे. इसके अलावा, UGC ने कॉलेजों से कहा कि वे अपने यहां पर एंटी-रैगिंग वर्कशॉप का आयोजन करें. अपने लेटेस्ट नोटिफिकेशन में UGC ने सभी कॉलेजों को कहा, ‘स्टूडेंट्स के साथ लगातार बातचीत की जाए और उनके लिए काउंसलिंग सेशन का आयोजन किया जाए.’ इसने कॉलेजों को अपने यहां समस्या खड़े करने वाले मुद्दों और एंटी-रैगिंग वार्निंग को कॉलेज के ई-इंफोर्मेशन बुकलेट में सुनिश्चित करने को कहा है.

एंटी-रैगिंग पोस्टर लगाने का निर्देश

नोटिफिकेश में UGC ने कहा कि होस्टल, स्टूडेंट्स, एकोमेडेशन, कैंटीन, रिक्रिएशनल रूम्स, टॉयलेट, बस स्टैंड जैसी जगहों पर औचक निरीक्षण किया जाए. एडमिशन सेंटर, डिपार्टमेंट, लाइब्रेरी, कैंटीन, हॉस्टल, कॉमन फैसिलिटी जैसी जगहों पर एंटी-रैगिंग पोस्टर्स लगाए जाएं. नोटिफिकेशन में आगे कहा गया, ‘रैगिंग जैसी समस्याओं से परेशान स्टूडेंट्स नेशनल एंटी-रैगिंग हेल्पलाइन नंबर 1800-180-5522 {24×7 Toll Free) पर कॉल कर सकते हैं. वह एंटी-रैगिंग हेल्पलाइन ईमेल [email protected] पर मेल भी कर सकते हैं. वहीं, अन्य किसी भी तरह की जानकारी के लिए antiragging.in पर जा सकते हैं. इसके अलावा, स्टूडेंट्स सेंटर फॉर यूथ (C4Y) के मोबाइल नंबर 9818044577 पर कॉल कर सकते हैं.’

अगर आपको एडमिशन, रैगिंग, फीस जैसी समस्याओं को लेकर किसी भी तरह की शिकायत तो UGC की तरफ से एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. इस बार में अधिक जानकारी के लिए पढ़ें ये रिपोर्ट….

ये भी पढ़ें



वहीं, UGC ने ये भी कहा है कि नेशनल एंटी-रैगिंग हेल्पलाइन को हर अकेडमिक ईयर की शुरुआत में स्टूडेंट और माता-पिता दोनों से एक ऑनलाइन अंडरटेकिंग लेना होगा. दरअसल, एडमिशन के बाद देशभर के कई कॉलेज ऐसे होते हैं, जहां पर रैगिंग के मामले सामने आते हैं. रैगिंग से परेशान होकर कई स्टूडेंट्स आत्महत्या तक कर लेते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.