उन्नाव में सरैयां आरओबी की जद में आएं हैं 42 बड़े पेड़, अब चलेगा आरा; काटने के लिए मिले 7.25 लाख रुपए

42 big trees will be cut between Barrage and Saraiya railway crossing in Unnao

उन्नाव से कानपुर को जाने वाले बैराज मार्ग स्थित सरैया रेलवे क्रॉसिंग (Saraiya Railway Crossing) पर आरओबी (रेलवे ओवर ब्रिज) का काम तेजी से चल रहा है. इसकी जद में आने वाले तमाम हरे पेड़ों को काटा जाना है. जिसको लेकर गुरुवार को वन निगम के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर इंस्पेक्शन किया और शुक्रवार आज से पेड़ों की कटान चालू की बात कही. अब सरैयां क्रासिंग मार्ग पर राहगीरों के लिये छाया मुनासिब नहीं हो सकेगी. पेड़ कटने के बाद यहां से पायलिंग पिलर बनाने का काम तेज कर दिया जाएगा. इसके एवज में वन विभाग ब्रिज बनने के बाद पौधों को लगाएगा. हालांकि, पेड़ कटने के बाद यहां पर छांव खत्म हो जाएगी और राहगीरों के लिये छाया मुनासिब नहीं हो सकेगी.

वन निगम के सेक्शन अधिकारी एमएच खान, वन रक्षक नीलू यादव, वन दरोगा के पी वर्मा के साथ आरओबी कार्य स्थल पहुंचे. जहां राज्य सेतु निगम के सहायक अभियंता दिवाकर गौतम भी से दोनों विभागों के अधिकारियों ने जायजा लिया. निगम के अधिकारी ने बताया कि बैराज और सरैयां क्रासिंग के बीच आरओबी पायलिंग का कार्य काफी हद तक हो गया है. क्रासिंग और मरहला के बीच कार्य अभी शुरू नहीं हो सका है. यहां पर कई बड़े पेड़ हैं, जो काम के आड़े आएंगे. इसके लिए आज से पेड़ों का कटान चालू करा दिया जाएगा.

बैराज और क्रॉसिंग के बीच 42 बड़े पेड़, काटने के लिए मिले 7.25 लाख रुपए

उन्होंने बताया कि बैराज और क्रॉसिंग के बीच 42 बड़े पेड़ और 295 छोटे पौधे हैं. जिन्हें काटने के लिए राज्य सेतु निगम की ओर से 7.25 लाख रुपए भी दिए गए हैं. खान ने बताया कि मरहला चौराहा और नया खेड़ा तक जो आरओबी की लंबाई बढ़ाई गई है, उस बीच जो भी पेड़ आएंगे, उनका चिन्हांकन नहीं किया गया है. उन पेड़ों की चिन्हांकन किया जाएगा.

Similar Posts