उन्नाव में लोग राशन कार्ड कर रहे सरेंडर, अब तक 1600 से अधिक लौटाए गए; जानिए क्या है वजह

ration cards surrendering more than 1600 people in Unnao

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के सत्ता में दोबारा आते ही एक के बाद एक सख्त कदम उठाए जा रहे हैं. माफियाओं के खिलाफ बुलडोजर गरज रहा है, तो वहीं, अपात्र राशन कार्ड (Ration card) धारकों को सरकार ने निशाने पर लिया है. सरकार ने पात्रता को पारदर्शी बनाते हुए सख्त गाइडलाइन जारी की है. 15 मई तक गलत तरीके से बनाए गए राशन कार्ड को उपभोक्ता को सरेंडर करने की मोहलत दी है. सत्यापन में राशन कार्ड गाइडलाइन के अनुरूप न पाए जाने पर FIR के साथ ही रिकवरी की जाएगी. जिसके बाद राशन कार्ड धारकों में अफरा-तफरी का माहौल बना है.

उन्नाव (Unnao) जिले में लगभग 5.67 लाख राशन कार्ड धारक है. सरकार ने एडवाइजरी जारी की है कि जिसके पास चार पहिया वाहन, 100 वर्ग गज जमीन, शस्त्र लाइसेंस, पेंशनर, सरकारी नौकरी, आयकर जमा कर रहे समेत अन्य श्रेणी में आने वाले व्यक्ति का अगर राशन कार्ड बना है, तो वह गलत है. ऐसे राशन कार्ड धारकों के लिए 15 मई तक जिला पूर्ति कार्यालय में राशन कार्ड सरेंडर करने की अंतिम समय सीमा निर्धारित की गई है. इस समय सीमा में राशन कार्ड सरेंडर करने वाले व्यक्ति के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी. 15 मई के बाद पात्र व अपात्र राशन कार्ड धारकों का सर्वे कराकर सत्यापन किया जाएगा.

अब तक 1600 से अधिक राशन कार्ड सरेंडर

सत्यापन के दौरान राशन कार्ड अपात्र पाए जाने पर राशन रिकवरी के अलावा एफआईआर दर्ज करने की चेतावनी दी गई है. जिसके बाद उन्नाव के राशन कार्ड धारकों में भी अफरा-तफरी का माहौल बना है. विभागीय अधिकारी के मुताबिक, अभी तक 1600 से अधिक राशन कार्ड धारकों ने अपने राशन कार्ड सरेंडर कर दिए हैं. यह सिलसिला लगातार जारी है.

सत्यापन में राशन कार्ड पात्र मिलने पर सख्त कार्रवाई

जिला पूर्ति अधिकारी रामेश्वर प्रसाद ने बताया कि 15 मई तक राशन कार्ड सरेंडर करने की समय सीमा निर्धारित की गई है. इसके बाद राशन कार्ड सत्यापन का काम शुरू होगा. सत्यापन में राशन कार्ड पात्र मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि नए राशन कार्ड के लिए भी लोग आवेदन कर रहे हैं. सबसे पहले वरीयता के आधार पर दैनिक मजदूरी करने वाले, कुली, भिक्षावृत्ति वाले, असाध्य रोगों से ग्रसित..ऐसे लोगों को चुना जाएगा. इसके बाद शहरी व नगरीय क्षेत्रों की बारी आएगी. इनमें आयकर जमा न करने वाले, चार पहिया वाहन नहीं है, 5 किलो का जनरेटर नहीं है, AC घर पर नहीं लगा है, यह लोग शामिल होंगे. ऐसे लोगों को चिन्हित कर राशन कार्ड जारी किया जाएगा.

एक नजर में समझें सरकार की नई एडवाइजरी

जिसके पास चार पहिया वाहन, 100 वर्ग गज जमीन, शस्त्र लाइसेंस, पेंशनर, सरकारी नौकरी, आयकर जमा कर रहे समेत अन्य श्रेणी में आने वाले व्यक्ति का अगर राशन कार्ड बना है, तो वह गलत है.

Similar Posts