उत्तराखंड में सीएम धामी के लिए सीट छोड़ने वाले कैलाश गहतोड़ी को मिल सकता है राज्यसभा या कैबिनेट मंत्री के दर्जे का इनाम

Kailash Gahatodi

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए विधानसभा सीट छोड़ने पर चम्पावत के पूर्व विधायक कैलाश गहतोडी को पार्टी जल्द ही इसका इनाम दे सकती है. बताया जा रहा है कि गहतोड़ी को पार्टी किसी निगम का अध्यक्ष बनाकर कैबिनेट मंत्री का दर्जा (Cabinet Minister Status) दे सकती है. वहीं इसके अलावा उन्हें राज्यसभा (Rajya Sabha) में भेजा सकता है. हालांकि संगठन इस बात पर विचार कर रहा है कि गहतोड़ी की नई भूमिका क्या होगी.गौरतलब है कि पूर्व में बीसी खंडूरी के लिए सीट छोड़ने वाले कांग्रेस के तत्कालीन विधायक टीपीएस रावत को बीजेपी ने राज्यसभा भेजा था.

विधानसभा चुनाव हारने के बाद सीएम धामी को विधानसभा का सदस्य बनना जरूरी है औरइसके लिए बीजेपी के चंपावत से विधायक कैलाश गहतोड़ी ने इस्तीफा देकर सीट खाली की है. चंपावत की सीट खटीमा सीट से सटी है. लिहाजा इस सीट के लिए बीजेपी आलाकमान ने अपनी हरी झंडी दी है. हालांकि अभी तक बीजेपी ने सीएम धामी के चंपावत सीट से उपचुनाव लड़ने का ऐलान नहीं किया है. लेकिन ये तय है की सीएम धामी चंपावत सीट से ही चुनाव लड़ेंगे. राज्य में चर्चा है कि मुख्यमंत्री के लिए सीट छोड़ने के बाद अब बीजेपी गहतोड़ी को भी इनाम देगी. राज्य सरकार उन्हें सरकार में कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है. उन्हें राज्य में किसी निगम में अद्यक्ष बनाकर कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जा सकता है. हालांकि इससे पहले राज्य में कांग्रेस सरकार ऐसा कर चुकी है. राज्य में हरीश रावत ने मुख्यमंत्री बनने के बाद धारचूला सीट से उपचुनाव लड़ा था और इस सीट से कांग्रेस के विधायक हरीश धामी ने इस्तीफा दिया था. जिसके बाद धामी को वन निगम का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था.

राज्यसभा में भेजने का भी विकल्प

कैबिनेट मंत्री के दर्ज के साथ ही गहतोड़ी को राज्यसभा भेजने का विकल्प भी बीजेपी के पास है. जुलाई में राज्यसभा की एक सीट जल्द ही खाली होने जा रही है और ऐसे में उन्हें राज्यसभा भेजना का फैसला किया जा सकता है. हालांकि गहतोड़ी राज्य में ही सक्रिय रहना चाहते हैं. ये भी चर्चा है कि उन्हें सीएम का सलाहकार भी बनाया जा सकता है.

बीजेपी सीएम के लिए कुर्सी छोड़ने वाले को भेज चुकी राज्यसभा

असल राज्य में बीजेपी पूर्व सीएम बीसी खंडूरी के लिए सीट खाली करने वाले कांग्रेस विधायक टीपीएस रावत को भी राज्यसभा भेज चुकी है. राज्य में जब बीसी खंडूरी को मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था. उस वक्त कांग्रेस कांग्रेस विधायक टीपीएस रावत ने उनके लिए सीट खाली की थी और इसके ऐवज में बीजेपी ने टीपीएस रावत को राज्यसभा भेजा था.

Similar Posts