उत्तराखंड में बढ़ सकता है रोडवेज का 30 फीसदी तक किराया, टैक्सी और ऑटो के किराये में भी होगा इजाफा

Uttarakhand Transport Corporatio

उत्तराखंड (Uttarakhand) में रोडवेज की बसों में सफल करने वालों को आने वाले समय में रोडवेज की बसों में सफर करने में अपनी जेब को ढीली करना होगा. क्योंकि रोडवेज की बसों का किराया 30 फीसदी तक बढ़ा सकता है. उत्तराखंड परिवहन निगम (Uttarakhand Transport Corporation) किराया बढ़ाने का जल्द ही ऐलान कर सकता है और पहाड़ी इलाकों में रोजवेज का किराया ज्यादा बढ़ेगा. रोडवेज (Roadways) प्रबंधन का कहना है कि डीजल और टोल की कीमतें बढ़ जाने के कारण रोडवेज को रोजाना नुकसान हो रहा है.

फिलहाल रोडवेज प्रबंधन ने राज्य परिवहन प्राधिकरण (एसटीए) को 35 से 40 पैसे प्रति किलोमीटर किराया बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है और रोडवेज प्रबंधन का ने इसके लिए डीजल और वाहन के कलपुर्जों की महंगाई को बड़ा कारण बताया है. वर्तमान में मैदानी रूट पर रोडवेज बसों का किराया 1 रुपए 26 पैसे प्रति किमी और पहाड़ी मार्गों पर यात्री किराया 1 रुपये 72 पैसे प्रति किमी के हिसाब से वसूला जा रहा है. लिहाजा माना जा रहा है कि एसटीए से मंजूरी मिलन के बाद रोडवेज प्रबंधन किराया बढ़ाने का आदेश जारी करेगा.

टैक्सी और ऑटो का भी बढ़ेगा किराया

जानकारा के मुताबिक राज्य में ना केवल रोडवेज की बसों का किराया बढ़ सकता है. बल्कि टैक्सी और ऑटो का भी किराया बढ़ेगा. यात्री वाहनों के किराए की रिपोर्ट आरटीओ-प्रशासन को आज मिल सकती है. जिसके तहत निजी वाहन बस, टैक्सी मैक्सी कैब, ऑटो, रिक्शा व सिटी बसों, भारी वाहनों का भाड़ा और चारधाम का किराया तय किया जाएगा. असल में अभी तक चार धाम यात्रा के लिए किराए में इजाफा नहीं किया गया है. राज्य में टैक्सी ऑपरेटर इसकी मांग कर रहे हैं. उनका कहना है कि महज तीन या चार महीने ही कारोबार होता है और किराया पिछले तीन साल से नहीं बढ़ा है. जबकि पेट्रोल और डीजल की कीमत दोगुनी हो गई है. ऐसे में ऑपरेटरों की जेब में इसका असर हो रहा है.

रोडवेज का किराया 2020 से नहीं बढ़ा

रोडवेज प्रबंधन का कहना कि डीजल की कीमतें बढ़ जाने के बावजूद प्रबंधन ने बसों के किराये में इजाफा नहीं किया है और फरवरी 2020 के बाद से रोडवेज बसों का किराया नहीं बढ़ा है. लिहाजा बढ़ती महंगाई को देखते हुए रोडवेज प्रबंधन एसटीए और परिवहन सचिव को यात्री किराया 30 प्रतिशत बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है.

Similar Posts