ईडी का शिकंजा: मुख्तार व करीबियों की लखनऊ में खंगाली जा रही हैं संपत्तियां, LDA ने बनाई कमेटी

Mukhtar Ansari

उत्तर प्रदेश के बांदा जेल (Banda Jail) में बंद और पूर्व बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और उसके करीबी लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. क्योंकि प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने माफिया डॉन मुख्तार अंसारी और उनके भाई अफजल समेत पूरे परिवार, रिश्तेदारों और करीबियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. ईडी राजधानी लखनऊ में मुख्तार और उसके करीबियों की संपत्तियों की तलाश कर रही है और इन संपतियों का पता लगाने के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण (Lucknow Development Authority) ने एक कमेटियां बनाई हैं. जिसकी अगुवाई एलडीए के सचिव पवन गंगवार कर रहे हैं.

मुख्तार अंसारी और उसके करीबियों लोगों की संपत्तियों पर योगी सरकार का बुलडोजर चल चुका था. पूरे उत्तर प्रदेश में मुख्तार और उसके करीबियों की संपत्तियों की अरबों की संपत्ति को योगी सरकार अपने पहले कार्यकाल में जब्त कर चुकी है. वहीं अब ईडी ने भी मुख्तार और उसके करीबियों की संपत्तियों को खंगालना शुरू कर दिया है. वहीं लखनऊ विकास प्राधिकरण ने इसके लिए टीम बनाई हैं. इसकी अध्यक्षता प्राधिकरण सचिव पवन गंगवार करेंगे और चार वरिष्ठ अधिकारियों की समिति मुख्तार उसके करीबियों की जांच लखनऊ में करेगी. नगर निगम और आवास विकास में भी इनकी संपत्तियों की तलाश कर रही है. इसके साथ ही मुख्तार के नाम पर शहर में अवैध कब्जा कर भवन खड़ा करने वाले ठेकेदार और बिल्डर भी एलडीए की रडार पर हैं.

ईडी ने एलडीए को लिखा था पत्र

मुख्तार अंसारी पर शिंकजा कसने के लिए ईडी के डिप्टी डायरेक्टर मनीष यादव ने मुख्तार और उसके रिश्तेदारों की संपत्ति की तलाशी के लिए एलडीए उपाध्यक्ष को पत्र लिखा है. इस पत्र में ईडी ने संपत्तियों का विवरण मांगता है. इसके अलावा ईडी ने उन लोगों के बारे में भी जानकारी मांगी गई है जिनके मामले कोर्ट में लंबित हैं. इस मामले में एलडीए के उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने एक आईएएस, दो पीसीएस अधिकारियों समेत चार अफसरों की एक टीम कमेटी बनाई है. जो ईडी की बताई गई संपत्तियों की जांच करेगी.

मुख्तार के पूरे परिवार की संपत्तियों के बारे में मांग है जानकारी

ईडी ने मुख्तार अंसारी और उसके परिवार के सभी लोगों के नाम संपत्तियों की सूची एल़डीए से मांगी है. ईडी ने मुख्तार अंसारी, भाई अफजल अंसारी, मुख्तार की पत्नी अफसाना, बेटे अब्बास, उमर और आतिफ रजा के साथ ही मुख्तार के करीबी और उसके दोस्तों की संपत्ति के बारे में जानकारी मांगी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एलडीए के उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने कहा कि ईडी ने मुख्तार अंसारी और उनके रिश्तेदारों की संपत्तियों के बारे में जानकारी मांगी थी और प्राधिकरण ने सचिव की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है.

Similar Posts