आजम खान के मीडिया प्रभारी 6 महीने के लिए जिला बदर, रामपुर में दिखे तो होंगे गिरफ्तार

Whatsapp Image 2022 05 14 At 11.09.33 Am

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान (Azam Khan) की पार्टी से नाराजगी को लेकर उनके मीडिया प्रभारी फसाहत अली खान शानू (Fasahat Khan Sanu) द्वारा हाल ही में एक बड़ा बयान दिया गया था. जिसमें उन्होंने अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा था. आजम खान और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की दूरियों को लेकर मीडिया प्रभारी फसाहत अली खान के बयान लगातार सामने आते रहे हैं, लेकिन अब उन पर रामपुर प्रशासन ने बड़ी कार्यवाही की है. रामपुर पुलिस ने उन पर दर्ज 4 मुकदमे के चलते उन्हे 6 महीने के लिए जिला बदर कर दिया है. आजम खान के बेहद ही करीबी माने जाने वाले मीडिया प्रभारी पर यह अब तक की रामपुर जनपद की सबसे बड़ी कार्यवाही है.

डीएम ने की पुष्टि

आजम खान के मीडिया प्रभारी फसाहत खान शानू को जिला प्रशासन ने छह महीने के लिए जिला बदर कर दिया है. प्रशासनीय एक्शन के बाद मीडिया प्रभारी ने रामपुर छोड़ दिया है. वहीं अगर अब वे रामपुर में दिखाई देते हैं तो पुलिस उनको गिरफ्तार करेगी. मीडिया प्रभारी को जिला बदर करने का आदेश एडीएम राम भरत तिवारी ने द्वारा दिया गया है. वहीं इसकी पुष्टि रामपुर के डीएम द्वारा की गई. बीते कई दिनों से फसाहत खान शानू को जिला बदर किए जाने की चर्चा जिले में हो रही थी. जिसकी पुष्टि करते हुए डीएम ने बताया कि उन्हें छह महीने के लिए जिलाबदर किया गया है. इस दौरान वे अगर जिले की सीमा के अंदर पाए जाते हैं तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

अखिलेश पर लगाया था आजम खान का साथ न देने का आरोप

अखिलेश यादव पर आजम खान का साथ न देने का आरोप लगाने वाले सबसे पहले शख्स फसाहत अली खान शानू ही थे. शानू लगातार सोशल मीडिया पर अखिलेश यादव पर आजम खान का साथ न देने को लेकर कमेंट कर रहे थे. इसके चलते वो काफी सुर्खियों में रहे थे. उन्होंने अखिलेश पर आरोप लगाते हुए कहा था कि बीजेपी से हमारी क्या दुश्मनी थी लेकिन अखिलेश ने हमें बीजेपी का दुश्मन बना दिया. वे एकबार भी आजम खान से मिलने सीतापुर जेल भी नहीं गए. चुनाव में जो 111 सीट आईं वो हमारी वजह से आईं फिर भी अखिलेश हमारे नहीं हुए.

उन्होंने कहा था कि अखिलेश यादव को हमारे कपड़ों से बदबू आती है और वे आजम खान के बारे में बात तक करना पसंद नहीं करते हैं.बता दें कि यूपी गुंडा अधिनियम के तहत उन पर कार्यवाही की गई है, फसाहत अली खान पर चार मुकदमे दर्ज हैं, जिसके चलते यह कार्यवाही को अंजाम दिया गया है.

Similar Posts