अवैध पार्किंग दिल्ली में जाम की बड़ी वजह, 13 हजार वाहनों के कटे चालान

पिछले साल दिल्ली पुलिस ने बड़ा अभियान चलाया था. इसमें अकेले अवैध पार्किंग के लिए ही 13 लाख 23 हजार 256 वाहनों के चालान किए गए. पुलिस ने इनमें से एक लाख 78 हजार वाहनों को जब्त किया है, वहीं बाकी के करीब 12 लाख वाहनों के मालिकों के खिलाफ कार्रवाई की फाइल कोर्ट भेजी है.

देश की राजधानी में दिल्ली में जहां तहां लगने वाले जाम की सबसे बड़ी वजह अवैध पार्किंग के रूप में सामने आई है. हालात को देखते हुए पिछले साल दिल्ली पुलिस ने बड़ा अभियान चलाया था. इसमें अकेले अवैध पार्किंग के लिए ही 13 लाख 23 हजार 256 वाहनों के चालान किए गए. पुलिस ने इनमें से एक लाख 78 हजार वाहनों को जब्त किया है, वहीं बाकी के करीब 12 लाख वाहनों के मालिकों के खिलाफ कार्रवाई की फाइल कोर्ट भेजी है. इस कार्रवाई से पुलिस ने 9.79 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त किया है.

यह खुलासा दिल्ली रोड क्रैश रिपोर्ट-2021 से हुआ है. वर्ष 2021 में हुई कार्रवाई के आधार पर दिल्ली पुलिस ने यह रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2021 में सर्वाधिक चालान अवैध पार्किंग के लिए गए हैं. उधर, दिल्ली में ट्रैफिक के जानकार बताते हैं कि अक्सर वाहन चालक पार्किंग में जल्दबाजी करते हैं और सड़क के किनारे गाड़ी लगाकर चले जाते हैं. इससे सड़क पर दूसरे वाहनों के चलने के लिए जगह कम पड़ जाती है. परिणाम स्वरुप जाम लगने लगता है. विशेषज्ञों ने दिल्ली सरकार को पार्किंग व्यवस्था में और सुधार करने के साथ पुलिस को सख्ती बढ़ाने की गुजारिश की है. साथ ही कहा है कि केवल प्रवर्तन की कार्रवाई से ही व्यवस्था नहीं सुधर सकती. इसके लिए जरूरी है कि वाहन मालिक खुद की जिम्मेदारी समझें.

दुर्घटना की भी बड़ी वजह अवैध पार्किंग

इस रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में होने वाले सड़क हादसों की भी बड़ी वजह अवैध पार्किंग है. दरअसल ट्रैफिक नियमों की अनदेखी से ना केवल सड़कों पर हादसे होते हैं, बल्कि इससे पर्यावरण को भी काफी नुकसान होता है. अक्सर अवैध पार्किंग वाले स्थानों पर धूल धुएं का प्रकोप रहता है. इससे लोगों को सांस लेने में परेशानी होती है.

प्रदूषण के लिए एक लाख से अधिक चालान

पूरी दिल्ली एक तरफ प्रदूषण से परेशान है, वहीं दूसरी ओर यहां वाहन चालक इससे बेफिक्र हैं. ज्यादातर वाहन चालक समय से ना तो अपने वाहन का प्रदूषण चेक कराते हैं और ना अपने वाहन का मेंटिनेंस ही कराते हैं. दिल्ली रोड क्रैश रिपोर्ट-2021 के मुताबिक इस अनदेखी के लिए वर्ष 2021 में कुल 123796 वाहनों कि चालान किया गया है. इसी प्रकार हेलमेट ना लगाने पर 91 हजार और सीट बेल्ट ना लगाने पर 62190 वाहनों के चालान किए गए हैं.

ये भी पढ़ें



मोबाइल के इस्तेमाल पर 26 हजार चालान

पुलिस ने गाड़ी चलाते समय मोबाइल के इस्तेमाल पर एक साल 26 हजार वाहनों के चालान किए हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक हर महीने करीबन 2100 लोगों ने इस कानून का उल्लंघन किया है. इसी क्रम में पुलिस ने सार्वजनिक स्थान पर धूम्रपान करने वाले 2759 वाहन चालकों का चालान किया है. इसी प्रकार बगैर लाइसेंस वाहन चलाने पर 28992 चालान किए गए. गनीमत रही कि साल भर में वाहनों पर लटककर चलने वालों की संख्या में कमी आई है. इसमें केवल तीन ही चालान हुए हैं. वहीं सामान ढोने वाले वाहनों में जानवरों को ले जाने पर 22 चालान किए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.