‘अपने कुकर्मों को छुपाने के लिए मुझे पार्टी से निकाला’ JCCJ से 6 साल के लिए बाहर MLA धर्मजीत सिंह

Chhatisgar

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी (जेसीसीजे) में फूट के बाद राजनीतिक उथल-पुथल मची हुई है. जोगी पार्टी से विधायक धर्मजीत सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अमित जोगी पर गंभीर आरोप लगाए है. उन्होंने कहा कि मेरी बीमार पत्नी के साथ अमित जोगी ने दुर्व्यवहार किया है. अब मेरी जान पर खतरा मंडरा रहा है. इसके बाद राज्य की राजनीति में विधायकों की खींचतान शुरू हो गई है. राज्य बनने के बाद सबसे पहले मुख्यमंत्री रहे अजित जोगी की पार्टी जेसीसीजे से विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह को अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग के साथ दुर्व्यवहार के आरोपों के चलते 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है.

जेसीसीजे पार्टी की सुप्रीमो रेणु जोगी ने एक पत्र जारी कर उनके निष्कासन की जानकारी मीडिया को दी. इसके बाद धर्मजीत सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अमित जोगी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि मैंने जोगी परिवार का हर सुख दुख में साथ दिया था. जोगी कांग्रेस का फाउंडर सदस्य हूं, लेकिन मेरे साथ ऐसा सलूक किया गया है. इसके साथ ही धर्मजीत सिंह ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि अपने कुकर्मों को छुपाने के लिए मुझे पार्टी से निष्कासित किया है. मेरी पत्नी को फोन कर अमित जोगी ने बदतमीजी की सभी सीमा लांघ दी. अपमान की जिंदगी जीने से अच्छा मैं मौत पसंद करूंगा.

अमित शाह से मिलना धर्मजीत को पड़ा महंगा

दरअसल, गृहमंत्री अमित शाह के दौरे पर दूसरी पार्टी के नेताओं ने भी मुलाकात की थी. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भी इस मामले पर कहा कि उनके साथ कई विधायक संपर्क में हैं. कई विधायकों के साथ उनके अच्छे संबंध हैं. धर्मजीत सिंह अगर बीजेपी में शामिल होना चाहते हैं, तो यह बीजेपी तय करेगी कि उन्हें पार्टी में लाना है या नहीं. वहीं, धर्मजीत सिंह ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि अमित शाह के कार्यक्रम में हिस्सा बनने पर अमित जोगी उनसे नाराज थे. उन्हें सवाल मुझसे पूछना था, अगर अमित शाह के कार्यक्रम में जाने से पीड़ा थी, तो मुझे पूछना था. लेकिन अमित जोगी ने मेरी पत्नी को फोन कर अभद्र भाषा का प्रयोग किया. अमित शाह से मिलना आसान नहीं होता. हम दर्शक बनकर गए थे और उनको सुनकर वापस आ गए. धर्मजीत सिंह ने कहा कि मैं अपने सम्मान से समझौता नहीं कर सकता, भले अपनी विधायकी ठुकरा दूंगा. अमित जोगी को लेकर उन्होंने कहा कि जितनी उसकी उम्र है, तब से मैं राजनीति कर रह हूं.

अमित जोगी ने कहा- चाचा एकनाथ शिंदे बनने वाले थे

धर्मजीत सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद अमित जोगी ने भी कहा है कि ठाकुर धर्मजीत सिंह मेरे लिए सदैव सम्मानीय थे हैं और रहेंगे. मेरे संस्कार मुझे यह अनुमति नहीं देते कि मैं अपने वरिष्ठजनों विशेषकर वो जो मेरे पिता के राजनीतिक छाया में पले बढ़े. दुख केवल इस बात का है कि धरमजीत चाचा को क्षेत्रीय स्वाभिमान छोड़कर, छत्तीसगढ़ का एकनाथ शिंदे बनना ज्यादा रास आया है. रही बात मेरे खिलाफ अनाप-शनाप बातें करने की तो मैं केवल इतना ही कहूंगा कि ये बातें ठाकुर धर्मजीत सिंह नहीं बल्कि उनके अंदर का एकनाथ शिंदे बोल रहा है.

बीजेपी सांसद के भाई ने ज्वाइन किया कांग्रेस

बीजेपी सांसद संतोष पांडेय के भाई के कांग्रेस में जाने के बाद बीजेपी में हलचल मच गई है. कांग्रेस ने इसे सरकार की सफलता बताया है. वहीं, रमन सिंह ने इसपर बयान देते हुए कहा कि कांग्रेस को ऐसे ही लोग मिल रहे हैं, जो बीजेपी के लिए अनुपयोगी हैं. कोई महत्वपूर्ण व्यक्ति दल बदल नहीं कर रहा है.