अटल नें बनाया था ईडी के लिए ये कानून, जो अब राहुल के लिये बनता जा रहा है गले का फंदा

दिल्ली: राहुल गांधी से लगातार दो दिन पूछताछ के बाद ED फिर सुर्खियों में है। दस साल पहले तक ED शायद ही कभी सुर्खियों में आती थी, लेकिन इन दिनों तो CBI से ज्यादा ED-ED का शोर है। ईडी की चर्चा अब जोरो पर है देश मे ये कही न कही छापेमारी की सूचना आप लोग सुनते रहते होंगे यह अपने आप स्वतंत्र संस्था है देश के किसी भी राज्य मे छापेमारी का इनको अधिकार पहले मनी लॉन्ड्रिंग के खिलाफ बने PMLA का मतलब समझ लेते हैं। आम बोली में इसका मतलब है दो नंबर के पैसे को हेराफेरी से ठिकाने लगाने वालों के खिलाफ कानून ।

अटल नें बनाया था क़ानून कांग्रेस नें किया था लागू ।

मजेदार बात यह कि इस कानून को बनाया तो अटल सरकार ने 2002 में था, लेकिन इसे धार देकर 2005 में लागू किया मनमोहन सरकार के वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने। अब यही कानून कांग्रेसी नेताओं के लिए गले का फंदा बना हुआ है।

किसी को भी गिरफ्तार करने के लिए ईडी को परमिशन की जरूरत नहीं।

दिल्ली पुलिस स्पेशल एस्टैब्लिशमेंट एक्ट 1946 के तहत बनी CBI को किसी भी राज्य में घुसने के लिए राज्य सरकार की अनुमति जरूरी है। हां, अगर जांच किसी अदालत के आदेश पर हो रही है तब CBI कहीं भी जा सकती है। पूछताछ और गिरफ्तारी भी कर सकती है।करप्शन के मामलों में अफसरों पर मुकदमा चलाने के लिए भी CBI को उनके डिपार्टमेंट से भी अनुमति लेनी होती है।वहीं नेशनल इंवेस्टिगेटिंग एजेंसी यानी NIA को बनाने की कानूनी ताकत NIA Act 2008 से मिलती है। NIA पूरे देश में काम कर सकती है, लेकिन उसका दायरा केवल आतंक से जुड़े मामलों तक सीमित है।
इससे उलट मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट यानी PMLA की ताकत से लैस ED केंद्र सरकार की अकेली जांच एजेंसी है, जिसे मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में नेताओं और अफसरों को तलब करने या उन पर मुकदमा चलाने के लिए सरकार की अनुमति की जरूरत नहीं है।ED छापा भी मार सकती है और प्रॉपर्टी भी जब्त कर सकती है। हालांकि, अगर प्रॉपर्टी इस्तेमाल में है, जैसे मकान या कोई होटल तो उसे खाली नहीं कराया जा सकता।

क्या होती है मनी लॉन्ड्रिंग ?

मनी लॉन्ड्रिंग बड़ी मात्रा में अवैध पैसे को वैध पैसा बनाने की प्रक्रिया है। सीधे शब्दों में कहें तो ब्लैक मनी को वाइट करने को मनी लॉन्ड्रिंग कहते हैं। ब्लैक मनी वो पैसा है, जिसकी कमाई का कोई स्रोत नहीं होता, यानी उस पर कोई टैक्स नहीं दिया गया है।

The post अटल नें बनाया था ईडी के लिए ये कानून, जो अब राहुल के लिये बनता जा रहा है गले का फंदा appeared first on ..

Similar Posts