अगले हफ्ते होगी GST काउंसिल की बैठक, मासिक जीएसटी भुगतान फॉर्म में बदलाव पर लग सकती है मुहर

Gst2

जीएसटी काउंसिल (GST Council) अगले हफ्ते होने वाली अपनी बैठक में मंथली टैक्स पेमेंट फॉर्म जीएसटीआर-3बी में बदलाव करने संबंधी प्रस्ताव पर विचार कर सकती है. इसमें ऑटो सेल्स रिटर्न से संबंधित आपूर्ति आंकड़ें और टैक्स भुगतान तालिका शामिल होगा जिसमें बदलाव नहीं किया जा सकेगा. इस कदम से जाली बिलों पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी. दरअसल विक्रेता जीएसटीआर-1 में अधिक बिक्री दिखाते हैं जिससे खरीदार इनपुट टैक्स क्रेडिट (ITC) का दावा कर सकें लेकिन जीएसटीआर-3बी में कम बिक्री दिखाते हैं ताकि जीएसटी देनदारी कम रहे.

टैक्सपेयर्स के लिए मौजूदा GSTR-3B में इनपुट टैक्स क्रेडिट स्टेटमेंट ऑटोमेटिक तैयार होते हैं जो B2B (कंपनियों के बीच) आपूर्तियों पर आधारित होते हैं. इसमें GSTR-1 और 3B में विसंगति पाए जाने पर उसे रेखांकित भी किया जाता है.

इन बदलावों का दिया प्रस्ताव

जीएसटी काउंसिल की लॉ कमिटी ने जिन बदलावों का प्रस्ताव दिया है उनके मुताबिक GTSR-1 से मूल्यों की ऑटो गणना GSTR-3B में होगी और इस तरह करदाताओं और टैक्स अधिकारियों के लिए यह और अधिक स्पष्ट हो जाएगा.

एक अधिकारी ने बताया कि इन बदलावों से GSTR-3B में उपयोगकर्ता की तरफ से जानकारी देने की आवश्यकता न्यूनतम रह जाएगी और GSTR-3B फाइलिंग की प्रक्रिया भी आसान होगी.

खबर अपडेट हो रही है…

Similar Posts